हमारा रिश्तेदार विधायक है, पता ही नहीं चलेगा मेवा सिंह बोला झुंझुनूं में है या नहीं...

रिश्तेदारी को ध्यान में रखते हुए 21 जनवरी 2009 को 70 लाख रुपए जरिए चेक ओरियंटल बैंक ऑफ कॉमर्स शाखा के माध्यम से दिए। देशराज ने यह चेक अमित धनखड़ के खाते में जमा कराकर 70 लाख रुपए प्राप्त कर लिए। उसके बाद 14 लाख रुपए नकद और दे दिए। ऐसे कर कुल 84 लाख रुपए दे दिए गए। इसके बाद 2020 तक तीनों का व्यवहार सही रहा और उसे बराबर ब्याज देते रहे। परंतु इसके बाद रुपए देने के मामले में टालमटोल करने लगे

By: Jitendra

Published: 23 Feb 2021, 11:19 AM IST

झुंझुनूं. कोतवाली थाने में एक व्यक्ति ने तीन जनों के खिलाफ 84 लाख रुपए हड़पने तथा मांगने पर जान से मारने की धमकी देने का मामला दर्ज करवाया है। आरोपियों ने धमकी दी अगर अगली बार रुपए मांगे तो उठवा देंगे। हरियाणा में हमारा रिश्तेदार विधायक है। किसी को पता भी नहीं चलेगा कि मेवासिंह बोला नाम का कोई व्यक्ति झुंझुनूं में है या नहीं। कोतवाली पुलिस ने बताया कि किसान कालोनी निवासी मेवासिंह बोला ने रिपोर्ट दी कि देशराज धनखड़, उसके बेटे अमित व सुमित धनखड़ ने 2008 में उसके पास आए और रिश्तेदारी की दुहाई देते हुए जयपुर में फैक्ट्री लगाने के लिए एक करोड़ रुपए ब्याज पर मांगे। ऐसे में रिश्तेदारी को ध्यान में रखते हुए 21 जनवरी 2009 को 70 लाख रुपए जरिए चेक ओरियंटल बैंक ऑफ कॉमर्स शाखा के माध्यम से दिए। देशराज ने यह चेक अमित धनखड़ के खाते में जमा कराकर 70 लाख रुपए प्राप्त कर लिए। उसके बाद 14 लाख रुपए नकद और दे दिए। ऐसे कर कुल 84 लाख रुपए दे दिए गए। इसके बाद 2020 तक तीनों का व्यवहार सही रहा और उसे बराबर ब्याज देते रहे। परंतु इसके बाद रुपए देने के मामले में टालमटोल करने लगे। जब अपने रुपए लेने के लिए एक महीने उनकी रीको स्थित फैक्ट्री में रुपए का तकादा करने गया तो रुपए देने से मना कर दिया और धमकी दी कि रुपए का लेना-देना नहीं है। तुझे उठवा देंगे। हमारा रिश्तेदार विधायक है। पुलिस ने विभिन्न धाराओं में मामला दर्जकर जांच शुरू कर दी है।

Jitendra Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned