scripttourist in jhunjhunu | अब खेतों में रुक रहे पर्यटक | Patrika News

अब खेतों में रुक रहे पर्यटक

locationझुंझुनूPublished: Dec 23, 2021 07:12:39 pm

Submitted by:

Rajesh sharma

यहां रुकने वाले पर्यटकों को उसी अनाज का भोजन करवाया जाएगा जिसे वे अपने खेतों में उगा रहे हैं। उन्हीं फलों को जूस दिया जाएगा जिसे वे अपने बाग में उगा रहे हैं। उदयपुरवाटी के पास पापड़ा खुर्द में पर्यटकों के लिए देसी अंदाज में रुकने व भोजन की व्यवस्था की गई है। यह स्थान पर्यटकों को खूब भा रहा है। यहां पर्यटकों को देसी चूल्हे पर बनी बाजरे व मक्के की रोटी, देसी साग,दही, गुड़ छाछ आदि दिए जा रहे हैं।

अब खेतों में रुक रहे पर्यटक
अब खेतों में रुक रहे पर्यटक
#tourist in jhunjhunu

पत्रिका न्यू•ा नेटवर्क
झुंझुनूं. मंडावा व नवलगढ़ सहित अनेक जगह हेरिटेज होटलों में रुक रहे पर्यटकों के लिए अब खेतों में होटल जैसी सुविधा दी जा रही है। हरे भरे बाग बगीचों व खेतों के बीच ऐसे झूंपे पर्यटकों को खूब पसंद आ रहे हैं। मंडावा के साथ-साथ अब अन्य स्थान भी पर्यटकों की पसंद बनते जा रहे है। झुंझुनूं से करीब 11 किलोमीटर दूर बुड़ाना गांव से आगे रिटायर्ड फौजी जमील पठान एग्रो फोरेस्ट्री टूरिज्म का नया कनसेप्ट लेकर आए हैं। उन्होंने पर्यटकों को ठहराने के लिए दो झूंपे बनाए हैं। झूंपे बाहर से ठेठ गांव का आभास करवा रहे हैं वहीं अंदर से होटल जैसी सुविधाएं हैं। पठान ने बताया कि अभी दिल्ली से पर्यटकों का दल आया है। पर्यटन विभाग में पंजीयन के लिए भी उसने आवेदन किया है। यहां रुकने वाले पर्यटकों को उसी अनाज का भोजन करवाया जाएगा जिसे वे अपने खेतों में उगा रहे हैं। उन्हीं फलों को जूस दिया जाएगा जिसे वे अपने बाग में उगा रहे हैं। उदयपुरवाटी के पास पापड़ा खुर्द में पर्यटकों के लिए देसी अंदाज में रुकने व भोजन की व्यवस्था की गई है। यह स्थान पर्यटकों को खूब भा रहा है। यहां पर्यटकों को देसी चूल्हे पर बनी बाजरे व मक्के की रोटी, देसी साग,दही, गुड़ छाछ आदि दिए जा रहे हैं। पर्यटकों को यहां का लजीज देसी भोजन खूब पसंद आ रहा है। राजेश मिठारवाल ने बताया कि फाइव स्टार होटल तो मुम्बई, दिल्ली में खूब है। लेकिन पर्यटक अब देसी खान-पान की तरफ ज्यादा आकर्षित हो रहे हैं। अभी विदेशी पर्यटक तो नहीं आ रहे, लेकिन देसी पर्यटक खूब आ रहे हैं। सर्दियों में तो एडवांस बुकिंग चल रही है। पर्यटन विभाग के सहायक निदेशक देवेन्द्र चौधरी ने बताया कि पर्यटकों को ऐसे झोंपे पसंद आ रहे हैं। यहां का देसी पकवान उनको खूब भा रहा है। जमीन पठान ने पर्यटन विभाग में पंजीयन के लिए आवेदन किया है। जल्द ही आगे की कार्रवाई की जाएगी।
Copyright © 2023 Patrika Group. All Rights Reserved.