सीमा पर तैनात सैनिकों के कारण हम घरों मे सोते चैन की नींद

शहीद राम सिंह की प्रतिमा का अनावरण

By: Jitendra

Published: 19 Jan 2019, 09:54 PM IST

खेतड़ी. रामकुमारपुरा ग्राम पंचायत के गांव नाडा की ढाणी में शनिवार को भारत-पाक युद्ध में १९६५ में शहीद हुए राइफल मैन रामसिंह की मूर्ति का अनावरण हुआ। अनावरण समारोह में मुख्यअतिथि सैनिक कल्याण बोर्ड के पूर्व अध्यक्ष प्रेमसिंह बाजौर थे। इस अवसर पर बाजौर ने कहा कि शहीद समाज की धरोहर है। हमें शहीदों को देवता के रूप में मानते हुए हर मांगलिक कार्य के अवसर पर शहीद स्मारक पर जाकर धोक लगानी चाहिए। सीमाओं पर शून्य डिग्री से कम तापक्रम पर हमारे सैनिक पहरा देकर सीमाओं की रक्षा करते हैं। उनकी बदोलत ही हम आज घरो में चैन की नींद सोते हैं। अध्यक्षता पूर्व विधायक दाताराम गुर्जर ने की। प्रधान मनीषा गुर्जर, भाजपा बबाई मण्डल अध्यक्ष राजेशसिंह निर्वाण,सत्यवीर सिंह निर्वाण,कर्नल जगदेव सिंह,सूबेदार मेजर रघुवीरसिंह,जगतसिंह,पवन देवी विशिष्ट अतिथि थे। संचालन कैप्टन सुमेरसिंह ने किया। इस अवसर पर मुख्यअतिथि ने वीरांगना सावित्री देवी व पुत्र रमेश सिंह को तथा समारोह में उपस्थित अन्य शहीदों के परिजनों को शाल ओढाकर अभिनंदन किया। इस अवसर पर प्रधान मनीषा गुर्जर ने शहीद स्मारक पर सिंगल पेज बोरिंग लगाने की घोषणा की।

१०८ मूर्तियां बनकर तैयार
झुंझुनूं. सर्किट हाउस में आयोजित पत्रकारवार्ता में सैनिक कल्याण सलाहकार समिति के पूर्व अध्यक्ष प्रेमसिंह बाजौर ने कहा कि राज्य में करीब १३ सौ शहीदों की मूर्तियां लगाई जाएंगी। इनमें से करीब १५० लगा दी गई है।एक सौ आठ बनकर तैयार हैं। बाजौर से जब पूछा गया कि सीकर में भाजपा सभी सीट हार गई इसका कारण क्या है, तो वे जवाब नहीं दे सके। केवल इतना ही कह सके कि जनता ने वोट नहीं दिए। इसके अलावा उनसे पूछा गया कि आपकी सरकार की घोषणा के अनुसार कितने शहीद परिवारों को आपने नौकरी दी तो वे जवाब नहीं दे सके।ना वे अकेले झुंझुनूं की संख्या बता सके।फिर उनसे पूछा गया कि केन्द्र में सरकार बदली फिर भी शेखावाटी में शहीदों की पार्थिव देह आने का सिलसिला जारी है, इसमें कमी क्यों नहीं आ रही। इसका जवाब भी वे नहीं दे सके।

 

Jitendra
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned