टैक्सी लूटने के लिए युवती ने ताने रखी पिस्तौल

पचेरी. गुडग़ांव से बुहाना के लिए किराए पर ली टैक्सी को नावता के पास पिस्तौल दिखाकर लूटने के आरोपितों में एक युवती भी शामिल है। युवती ही पीडि़त चालक की कनपटी पर पिस्तौल ताने रही।
थानाधिकारी अंकेश कुमार ने बताया कि हीरागंज तन प्रतापगढ़ (उत्तरप्रदेश) निवासी राममिलन लोहार ने रिपोर्ट दी है कि वह राजीव सिंह की कार चलाता है। जो ओला कम्पनी गुडग़ांव के माध्यम से किराए पर चलती है।

By: Datar

Published: 19 Jan 2019, 10:18 PM IST

टैक्सी लूटने के लिए युवती ने ताने रखी पिस्तौल
पचेरी. गुडग़ांव से बुहाना के लिए किराए पर ली टैक्सी को नावता के पास पिस्तौल दिखाकर लूटने के आरोपितों में एक युवती भी शामिल है। युवती ही पीडि़त चालक की कनपटी पर पिस्तौल ताने रही।
थानाधिकारी अंकेश कुमार ने बताया कि हीरागंज तन प्रतापगढ़ (उत्तरप्रदेश) निवासी राममिलन लोहार ने रिपोर्ट दी है कि वह राजीव सिंह की कार चलाता है। जो ओला कम्पनी गुडग़ांव के माध्यम से किराए पर चलती है।
शुक्रवार शाम को करीब पौने सात बजे कम्पनी के मार्फत गुडग़ांव से बुहाना तक की बुकिंग मिली तथा गुडग़ांव से एक युवक व एक युवती को ओला कैब में बैठा लिया। जैसे ही करीब पौने दस बजे रात्रि में नावता के पास पहुंचे तो युवक ने उसकी कनपटी पर पिस्तौल लगा दी। कुछ दूरी के बाद युवक व युवती ने उसके साथ छीना-झपटी कर उसको नीचे धक्का मार कर गिरा दिया। इसी बीच उनसे पिस्तौल भी नीचे गिर गई। दोनों युवक व युवती उसकी टैक्सी कार को लेकर फरार हो गए।
पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू की। पिस्तौल को जब्त कर लिया है। वहीं मनोहरपुरा के पास से टैक्सी कार को बरामद कर लिया है तथा अज्ञात युवकों के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। पीडि़त चालक राममिलन विश्वकर्मा ने बताया कि जैसे ही सडक़ पर पचेरी कलां पुलिस की गाड़ी खड़ी दिखी तो उसकी हिम्मत बंध गई और लुटेरों से उलझ गया और युवती से पिस्तौल छीन ली। आनन-फानन में युवक ने टैक्सी कार के बे्रक लगाए। इसके बाद वह सडक़ पर ही कूद गया और इसकी सूचना पुलिस को दी तो तुरन्त पचेरी कलां थानाधिकारी अंकेश कुमार मय जाब्ते ने लुटेरों का पीछा किया तो आरोपी टैक्सी कार को मनोहरपुरा गांव के पास छोडकऱ फरार हो गए।


पुलिस टीम पहुंची झज्जर, एटीएम लूट के आरोपित से करेगी पूछताछ
बुहाना. कुहाड़वास गांव के एसबीआइ बैंक में लगे एटीएम को गैस कटर से काट कर करीब सोलह लाख रुपए उड़ाने वाले गिरोह को पकडऩे के लिए टीम झज्जर गई है। झज्जर पुलिस ने एक दिन पूर्व विभिन्न स्थानों से करीब ग्यारह एटीएम लूटने वाले एक गिरोह के 3 सक्रिय सदस्यों को गिरफ्तार किया है। तीन को गिरफ्तार का प्रयास किया जा रहा है। गिरफ्तार किए गए आरोपितों ने 11 में से 10 एटीएम एसबीआइ बैंक की लूटी है। झज्जर पुलिस ने नूंंह गांव के गोगजका निवासी आशिक को आम्र्स एक्ट में गिरफ्तार करके उससे कड़ाई से पूछताछ की तो उसने अपने साथी अलवर के विकास, रेवाड़ी के बरेलीखुर्द का रामचन्द्र और तीन अन्य के नाम बताए है। झज्जर पुलिस ने तीनों को गिरफ्तार कर लिया है। शेष तीन की तलाश जारी है। एटीएम लूट के आरोपितों के झज्जर में गिरफ्तारी की सूचना मिलते ही जांच टीम शनिवार को सवेरे ही वहां पहुंच गई। जांच टीम ने गिरफ्तार आरोपितों से हरियाणा पुलिस के सहयोग से पूछताछ की है। पूछताछ में कुछ जानकारी लगने की पुष्टि हुई है।

सुपरवाइजर की नौकरी छोड़ बनाया गिरोह
झज्जर में गिरफ्तार किए गए आरोपित विकास कुमार एसबीआइ एटीएम की देखरेख के लिए सुपरवाइजर का कार्य करता था। सुपरवाइजर की नौकरी छोडकऱ उसने गिरोह बना लिया। आरोपित ज्यादातर एसबीआइ बैंक की एटीएम से ही रुपये उडाते थे। इसके पीछे तर्क यह दिया जा रहा है कि विकास को एसबीआइ की एटीएम में कैश रखने के बाक्स की पूरी जानकारी थी। इसलिए एसबीआइ बैंक के कैशबॉक् श को गैस कटर की मदद से काटा जाता था।

इनका कहना है...
झज्जर पुलिस ने एसबीआइ लूट के आरोपितों को गिरफ्तार किया है। जांच टीम मौके पर पहुंच कर पूछताछ कर रही है। मामले में अनुसंधान जारी है। आरोपितों से जानकारी मिलने की उम्मीद है। -सुनील गुप्ता, सीआई, बुहाना।

jhunjhunu crime news

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned