राजस्थान पुलिस में दम है तो मुझे गिरफ्तार करके दिखाए

पुलिस के अधिकारियों को कह देना कि डकैती डालने योगेश चारणवासी आया था।अगर उनमें दम है तो योगेश को गिरफ्तार करके दिखाए

By: Rajesh

Published: 03 Dec 2019, 01:40 PM IST


झुंझुनूं. यह मेरा पहचान पत्र है। इसे रख ले। पुलिस आए तो यह उसे दे देना है। हां, और कह देना दुकान पर डकैती डालने योगेश चारणवासी आया था। पुलिस के अधिकारियों को कह देना कि अगर उनमें दम है तो योगेश को गिरफ्तार करके दिखाए। पंद्रह सितम्बर को राजस्थान के झुंझुनूं शहर में डकैती करने आए योगेश चारणवासी ने घटना के बाद कुछ इसी प्रकार का चैलेंज राजस्थान पुलिस को देकर गया था। अब दिसम्बर माह शुरू हो गया, लेकिन राजस्थान पुलिस अभी उसके चैलेंज को पूरा नहीं कर सकी।

yogesh charanwasi news jhujhunu

यह थी घटना
झुंझुनूं शहर में माननगर स्थित न्यू प्रकाश ज्वैलर्स पर 15 सितम्बर को दिन दहाड़े डकैती करने व मालिक जतिन सोनी की हत्या में शामिल आरोपी योगेश चारणवासी को पुलिस अभी तक नहीं ढूंढ सकी है। घटना के बाद कुछ दिन सामाजिक व अन्य संगठनों के दबाव पर पुलिस ने हरियाणा व अन्य जगह टीम भेजी। उसके बाद अब पुलिस की कार्रवाई ढीली पड़ गई।
घटना 15 सितंबर को हुई थी, उसके ठीक 25 दिन बाद जयपुर में उपचार के दौरान जतिन सोनी जिंदगी की जंग हार गया था। जतिन की मौत के गम के बीच घटना के विरोध में शेखावाटी के बाजार बंद रहे थे। पुलिस अभी तक कुछ आरोपियों को गिरफ्तार कर चुकी है।


जेल में भी मिलीभगत

yogesh charanwasi news jhujhunu
योगेश का दबदबा क्षेत्र में ही नहीं बल्कि जेल में भी है। उसके खिलाफ राजस्थान व हरियाणा सहित अनेक जिलों में मामले दर्ज हैं। कई मामलों में वह जेल भी जा चुका। बड़ी बात यह है कि वह जेल में भी मोबाइल व हथियार रखता है। उसने अपने फेसबुक अकाउंट पर खुद की जेल की अंदर की कई फोटो पोस्ट कर रखी है। हथियार रखना भी उसका शौक है। हथियारों के साथ उसने कई फोटो अपलोड कर रखे हैं।

मंडावा मोड पर बदला वाहन
झुंझुनूं में डकैती के बाद आरोपी मंडावा मोड के पास पहुंचे। यहां चलती बोलेरो में से दोनों उतर गए। यहां से दोनों मोटरसाइकिल से रवाना हुए। जबकि तीसरा साथी जिसने हेलमेट लगा रखा था, वह मोटरसाइकिल से पहुंचा।


बर्बाद हो गया पूरा परिवार
डकैती में लाखों रुपए के गहने आरोपी ले गए थे। इसके बाद लाखों रुपए जतिन सोनी के इलाज पर खर्च हो गए। सबसे बड़ा नुकसान जतिन की हत्या का रहा। इस घटना से पूरा परिवार अभी भी सदमे हैं और पुलिस अभी आरोपी को नहीं ढूंढ सकी है। इस कारण अनेक सामाजिक संगठनों में रोष व्याप्त है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned