कोरोना से जंग जीतने के लिए तालियां बजाते खुश नजर आए लोग

स्वेच्छा से जनता कफ्र्यू को सफल बनाने में लोगों ने किया सहयोग
मंदिरों के कपाट रहे बंद, अस्पताल और शराब दुकानें रही खुली

By: Devkumar Singodiya

Published: 22 Mar 2020, 07:11 PM IST

जींद. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की अपील का जींद के लोगों ने पूरा समर्थन दिया और लगभग सभी लोग अपने घरों तक सीमित रहे। शहर में चिकित्सकों और मेडिकल स्टोर को छोड़ कर कहीं कोई दुकान नहीं खुली। बाजार, रेलवे स्टेशन, रेलवे जंक्शन, बस अड्डा, शहर का हर मार्ग पूरी तरह से खाली रहे। सबसे बड़ी बात यह रही कि लोगों ने किसी तरह के दबाव में नहीं बल्कि स्वेच्छा से जनता कफ्र्यू को सफल बनाने में अपना सहयोग दिया। फिर शाम को पांच बजे बच्चों, पुरूषों और महिलाओं ने थालियां और तालियां बजा कर जनता कफ्र्यू के दौरान आवश्यक सेवाएं संचालित करने वालों का धन्यवाद व्यक्त किया।

वहीं सीएम फ्लाइंग टीम ने भी पूरे शहर का दौरा कर जनता कफ्र्यू पर निगरानी रखी। सड़कों पर आम लोगों की आवाजाही न के बराबर रही। बेहद जरूरी काम होने पर ही कुछ लोग घरों से बाहर निकले। दोपहर होते-होते तो शहर की सड़कें पूरी तरह से वीरान हो गई।

सुबह के समय गलियों में तो हलचल देखने को मिली, लेकिन सड़कों पर या बाजारों में पूरी तरह से सन्नाटा रहा। जींद में रविवार को रोडवेज की बसें नहीं चलीं। रेल आवागमन भी बंद रहा। न तो बस अड्डा और न ही रेलवे जंक्शनों और रेलवे स्टेशनों पर कोई नजर आया और वहां केवल सन्नाटा पसरा रहा।

आपात सेवाएं चालू रही


जनता कफ्र्यू के दौरान केवल आपात सेवाएं ही चालू रहीं। अधिकतर जगहों पर क्नीनिक और मेडिकल स्टोर भी खुले रहे ताकि आपात स्थिति में दवाएं उपलब्ध हो सकें। नागरिक अस्पताल में ओपीडी तो नहीं हुई, लेकिन आपात वार्ड, गायनी, बच्चा वार्ड में उपचार की तमाम सुविधाएं मिलती रहीं। चिकित्सकों ने पूरी तन्यमता से ड्यूटी निभाई। अस्पताल की पुरानी बिङ्क्षल्डग में किसी भी स्थिति से निपटने के लिए स्पेशल फ्लू कोर्नर भी बनाया गया है।

बंद रहे मंदिरों के कपाट

जींद में मंदिरों के कपाट भी बंद रहे ताकि लोगों की भीड़ न हो सके। जयंती देवी मंदिर के पुजारी नवीन शास्त्री ने कहा कि सुबह सात बजे से रात्रि नौ बजे तक मंदिर के कपाट बंद रखे गए। जिसके चलते श्रद्धालुओं ने मंदिरों में जाने के बजाए घर पर ही पूजा-पाठ किया। शहर में दिनभर सीएम फ्लाइंग शहर का दौरा करती रही।


खुली दिखी शराब की दुकानें

शहर में जनता कफ्र्यू का शराब ठेकों पर असर देखने को नहीं मिला और जगह-जगह शराब के ठेके खुले देखे गए। इसकी सूचना जब प्रशासन तक पहुंची तो इन्हें बंद कराने का प्रयास किया गया लेकिन ठेका कर्मियों ने आधा शटर डाउन किया ताकि लोग शराब खरीद सकें।
नगर परिषद और नगर पालिका क्षेत्रों में कोरोना वायरस को लेकर पार्कों, मेन बाजार में दुकानों के आगे और शटरों पर दवाई का छिड़काव किया गया। शाम को जैसे ही पांच बजे तो लोग अपनी छतों
और दरवाजों पर आ गए और थालियां और तालियां बजा कर उन लोगों का धन्यवाद किया जो कोरोना
जैसी घातक संक्रमण बीमारी के बावजूद अपने दायित्व का निर्वाह कर रहे थे।
इनमें पुलिस, पत्रकारों, चिकित्सकों सहित सभी वे लोग शामिल थे जो अपने-अपने तरीके से कोरोना वायरस को लेकर लोगों में जागरूकता लाने का प्रयास कर रहे हैं।


हरियाणा की अधिक खबरों के लिए क्लिक करें...
पंजाब की अधिक खबरों के लिए क्लिक करें...

Corona virus corona virus in india Corona Virus treatment
Show More
Devkumar Singodiya Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned