रोहतक रेफर की गई महिला ने दिया एम्बुलैंस में बच्चे को जन्म

प्रसव के लिए आई महिला को गंभीर बताकर चिकित्सकों ने पीजीआई रोहतक रेफर कर दिया लेकिन महिला ने शहर से निकलते ही एंबुलैंस में ही बच्चे को जन्म दे दिया

By: शंकर शर्मा

Published: 22 Aug 2017, 12:19 AM IST

जींद। सामान्य अस्पताल में प्रसव के लिए आई महिला को गंभीर बताकर चिकित्सकों ने पीजीआई रोहतक रेफर कर दिया लेकिन महिला ने शहर से निकलते ही एंबुलैंस में ही बच्चे को जन्म दे दिया।

जच्चा-बच्चा को वापस सामान्य अस्पताल लाया गया और भरती करवाया। महिला के परिजनों ने चिकित्सकों पर लापरवाही का आरोप लगाया और कहा कि जब महिला गंभीर थी तो उसे नॉर्मल डिलीवरी कैसे हुई। यहां तक की एंबुलैंस में पुरूष स्वास्थ्य सहायक ने डिलीवरी करवाई। उधर, सिविल सर्जन ने परिजनों के आरोपों को बेबुनियाद बताते हुए सिरे से नकार दिया। नारनौंद निवासी राजकुमार की पत्नी शीतल को सोमवार सुबह प्रसव पीडा के चलते सामान्य अस्पताल में भरती करवाया गया। डयूटीरत महिला चिकित्सक ने शीतल को गंभीर बताते हुए पीजीआई रोहतक रेफर कर दिया। ए बुलैंस से शीतल को प्रसव के लिए रोहतक ले जाया रहा था तो सामान्य अस्पताल से महज पांच किलोमीटर की दूरी पर एचपी गैस प्लांट के निकट बालिका को जन्म दे दिया। जिस पर ए बुलैंस को वापस सामान्य अस्पताल लाया गया और जच्चा-बच्चा को भरती करवा दिया गया।

रेफर करने के कुछ समय बाद ही ए बुलैंस में गंभीर बताई गई शीतल की नॉर्मल डिलीवरी होने पर परिजनों ने चिकित्सकों पर भड़ास निकाली। शीतल के पति राजकुमार ने आरोप लगाया कि चिकित्सकों की लापरवाही के कारण उसकी पत्नी की जान पर बन आई। चिकित्सकों ने शीतल को गंभीर बताते हुए पीजीआई रोहतक रेफर कर दिया। सामान्य अस्पताल से निकले हुए महज दस मिनट हुई थी कि शीतल की डिलीवरी नॉर्मल ए बुलैंस में हो गई। दूसरी बड़ी खामी यह थी कि ए बुलैंस में शीतल को पुरूष स्वास्थ्य सहायक ने डिलीवरी करवाई। यह स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही नहीं तो और क्या है।


सिविल सर्जन डा. संजय दहिया ने बताया कि महिला के हालात गंभीर थी, जिसके चलते उसे पीजीआई रोहतक रेफर किया गया था। एंबुलैंस में प्रसव के लिए सभी सुविधाएं उपलब्ध होती हैं, साथ ही स्वास्थ्य कर्मी भी मौजूद होता है। जच्चा-बच्चा दोनों स्वस्थ हैं।

शंकर शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned