ICAR IISR Young Professional- यंग प्रोफेशनल II के पदों पर भर्ती, करें आवेदन

ICAR IISR Young Professional recruitment 2018, आईसीएआर-इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ स्पाइसेज रिसर्च ( IISR ) ने यंग प्रोफेशनल II

By: युवराज सिंह

Published: 30 Jan 2018, 02:54 PM IST

ICAR IISR Young Professional recruitment 2018, आईसीएआर-इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ स्पाइसेज रिसर्च ( IISR ) ने यंग प्रोफेशनल II के रिक्त पदों पर भर्ती के लिए आवेदन आमंत्रित किए हैं। इच्छुक व योग्य उम्मीदवार इन पदों के लिए 17 फरवरी 2018 को आयोजित होने वाले इंटरव्यू में हिस्सा ले सकते हैं। आवेदन के संबंध में अधिक जानकारी के लिए नीचे दिए गए अधिसूचना लिंक पर क्लिक करें।

ICAR IISR में रिक्त पदों का विवरणः
यंग प्रोफेशनल II: 02 पद


ICAR IISR में रिक्त पदों पर आवेदन करने के लिए पात्रता मानदंड व शैक्षिक योग्यता:

उम्मीदवारों को इन विषयों में मास्टर डिग्री होनी चाहिए-बायोटेक्नोलॉजी / मॉलिक्यूलर बायोलॉजी / बायोकेमिस्ट्री / बायोइनफॉरमेंटिक्स तथा लाइफ साइंस के एक विषय के साथ किसी भी साइंस विषय से ग्रेजुएट होना चाहिए, इसके साथ ही पदों से सम्बंधित विस्तृत शैक्षिक योग्यता की जानकारी के लिए अधिसूचना को देखें।


ICAR IISR Young Professional recruitment 2018 में रिक्त पदों पर आवेदन करने के लिए आयु सीमा: 21 से 45 साल


आईसीएआर - इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ स्पाइसेज रिसर्च ( IISR ) में रिक्त पदों पर आवेदन कैसे करें:
योग्य उम्मीदवार निम्न वेन्यू पर 17 फरवरी 2018 को आयोजित होने वाले इंटरव्यू में उपस्थित हो सकते हैं-आईसीएआर-इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ स्पाइसेज़ रिसर्च (इंडियन कौंसिल ऑफ़ एग्रीकल्चरल रिसर्च) मारीकुंनु पी ओ, कोझीकोड - 673 012, केरल।

महत्वपूर्ण तिथि: इंटरव्यू की तिथि: 17 फरवरी 2018

 

ICAR IISR Young Professional recruitment notification 2018:

आईसीएआर-इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ स्पाइसेज रिसर्च ( IISR ) ने यंग प्रोफेशनल II के रिक्त पदों पर भर्ती के लिए विस्तृत अधिसूचना यहां क्लिक करें।

 

आईसीएआर - इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ स्पाइसेज रिसर्च ( IISR ) परिचयः

भारतीय मसाला अनुसंधान संस्थान (Indian Institute of Spices Research (IISR)) भारत का एक स्वायत्त अनुसंधान संस्थान है जो मसालों से सम्बन्धित अनुसंधान में संलग्न है। इसका मुख्यालय कोझीकोड (केरल) में स्थित है।

मसाले पर निरंतर शोध की शुरुआत के प्रमुख कदम के रूप में कैसरगोड में केन्द्रीय बागान कृषि अनुसंधान संस्थान (सीपीसीआरआई) में अखिल भारतीय कोआर्डिनेटेड मसालों और काजू सुधार परियोजना (एआईसीएससीआईपी) की शुरूआत गर्इ थी।

Show More
युवराज सिंह
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned