MSTC recruitment 2018, एमएसटीसी लिमिटेड में मैनेजर के 7 पदों पर भर्ती, करें आवेदन

MSTC recruitment 2018, एमएसटीसी लिमिटेड ने मैनेजर के 7 रिक्त पदों पर भर्ती के लिए आवेदन आमंत्रित किए हैं

By: युवराज सिंह

Published: 05 Feb 2018, 09:06 AM IST

MSTC recruitment 2018, एमएसटीसी लिमिटेड ने मैनेजर के 7 रिक्त पदों पर भर्ती के लिए आवेदन आमंत्रित किए हैं। इच्छुक व योग्य उम्मीदवार 18 फरवरी, 2018 तक आवेदन कर सकते हैं।

मैनेजर के इन पदों के लिए 45 वर्ष की आयु सीमा तक के उम्मीदवार आवेदन कर सकते हैं। आवेदन करने के लिए उम्मीदवार संबंधित वेबसाइट पर जाएं और मौजूद दिशा-निर्देशों के अनुसार ऑनलाइन आवेदन की प्रक्रिया पूरी करें।

MSTC recruitment 2018, एमएसटीसी लिमिटेड में रिक्त पदों का विवरणः
कुल पदः 07


पदों का नाम: एडिशनल मैनेजर, डिप्टी जनरल मैनेजर, मैनेजर और डिप्टी मैनेजर

शैक्षणिक योग्यता: पदों के अनुसार अलग-अलग निर्धारित

आयु सीमा: अधिकतम 30/ 34/ 40/ 45 वर्ष (पदानुसार)

वेबसाइट: www.mstcindia.co.in

ऐसे करें आवेदन:

संबंधित वेबसाइट पर जाएं और मौजूद दिशा-निर्देशों के अनुसार ऑनलाइन आवेदन की प्रक्रिया पूरी करें। आवेदन पूर्ण हो जाने के बाद उसका प्रिंटआउट आगामी चयन प्रक्रिया के लिए सुरक्षित रख लें।

अंतिम तिथिः 18 फरवरी, 2018

चयन प्रक्रियाः आवेदकों का चयन साक्षात्कार के आधार पर।

 

MSTC Manager recruitment notification 2018:

MSTC recruitment 2018, एमएसटीसी लिमिटेड ने मैनेजर के 7 रिक्त पदों पर भर्ती के लिए विस्तृत अधिसूचना यहां क्लिक करें।

MSTC परिचयः

एमएसटीसी लिमिटेड (MSTC Limited) भारत सरकार के इस्पात मंत्रालय के अधीन 'मिनि रत्न' श्रेणी का सर्वजनिक क्षेत्र का उपक्रम है। इसकी स्थापना 9 सितम्बर 1964 को लौह कबाड़ (स्क्रैप) के निर्यात को नियंत्रित करने के उद्देश्य से की गयी थी। सन् 1974 में यह स्टील अथारिटी ऑफ इण्डिया की सहायक ईकाई बना दी गयी और पुनः सन् 1982 में इसे सेल से अलग कर दिया गया। सन् 1992 तक भारत में लौह स्क्रैप का आयात इसके माध्यम से ही किया जाता था।

एम.एस.टी.सी., इस्पात मंत्रालय के अधीन भारत सरकार की यह कंपनी 30 वर्षों से ज्यादा समय से घरेलु और अंतराष्ट्रीय व्यापारिक गतिविधियों में लिप्त है। 1992 तक भारत में कार्बन स्टील मेल्टिंग स्क्रेप और स्पौंज आयरन/हौट ब्रिक्वेटेड आयरन और री-रोल्लेबल स्क्रेप के आयात की कैनलाइजिंग एजेंसी थी। पुराने जहाजों को तोड़ने की भी कैनलाइजिंग एजेंसी यह कंपनी थी।

Show More
युवराज सिंह
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned