script10101 | लड़कियों की शादी की उम्र बढ़ाने के बीच राजस्थान से आई यह बड़ी खबर | Patrika News

लड़कियों की शादी की उम्र बढ़ाने के बीच राजस्थान से आई यह बड़ी खबर

राष्ट्रीय परिवार स्वास्थ्य सर्वेक्षण के अनुसार पिछले पांच वर्ष में प्रदेश में बालिकाओं का बाल विवाह 10 फीसदी कम हुआ है। जबकि मणिपुर में बाल विवाह के मामले बढ़े हैं तो मेघालय और पश्चिमी बंगाल में कोई अंतर नहीं आया।

जोधपुर

Updated: December 22, 2021 02:22:22 pm

- पांच वर्ष बाद आए आंकड़ों ने चौकाया
- राष्ट्रीय परिवार स्वास्थ्य सर्वेक्षण में खुलासा
सिकन्दर पारीक
जोधपुर. लड़कियों की शादी की न्यूनतम उम्र 18 से बढ़ाकर 21 वर्ष करने के केन्द्र सरकार के प्रस्ताव पर देश भर में हो रही बहस में प्रदेश की सुनहरी तस्वीर यह है कि यहां 18 वर्ष से कम आयु में विवाह करने वाली बालिकाओं की संख्या में अब कमी आई है।
लड़कियों की शादी की उम्र बढ़ाने के बीच राजस्थान से आई यह बड़ी खबर
लड़कियों की शादी की उम्र बढ़ाने के बीच राजस्थान से आई यह बड़ी खबर
राष्ट्रीय परिवार स्वास्थ्य सर्वेक्षण के अनुसार पिछले पांच वर्ष में प्रदेश में बालिकाओं का बाल विवाह 10 फीसदी कम हुआ है। जबकि मणिपुर में बाल विवाह के मामले बढ़े हैं तो मेघालय और पश्चिमी बंगाल में कोई अंतर नहीं आया। उड़ीसा में मामूली अंतर है तो अन्य प्रदेशों में भी कमी का आंकड़ा 8 प्रतिशत के आसपास ही है। राजस्थान में अब तक 43 बालिकाओं ने बाल विवाह प्रतिषेध अधिनियम 2006 के तहत अपना विवाह निरस्त भी करवाया है।

अब यह है आंकड़ा
केन्द्र सरकार की ओर से राष्ट्रीय परिवार स्वास्थ्य सर्वेक्षण वर्ष 2019-21 दो चरणों में हुआ। लॉकडाउन से पहले 2 जनवरी से 21 मार्च 2020 तक और दूसरा 10 दिसम्बर से एक मार्च 2021 तक हुआ। सर्वे के अनुसार राज्य में 20 से 24 वर्ष की 25. 4 फीसदी महिलाओं की शादी 18 वर्ष से कम आयु में हुई जबकि वर्ष 2015 में यह आंकड़ा 35.4 था। ग्रामीण इलाकों में 28.3 और शहरी इलाकों में 15.1 बालिकाओं का विवाह कम उम्र में हो रहा है।

बीकानेर में खास अंतर नहीं
बीकानेर जिले में पहले बाल विवाह का आंकड़ा 33.4 था, जो अब 33.3 प्रतिशत है। झालावाड़ और बूंदी में एक फीसदी अंतर आया है। जनजातीय इलाके डूंगरपुर में 14, प्रतापगढ़ 10, सिरोही 11 और बांसवाड़ा में 3 प्रतिशत कमी आई है तो उदयपुर, नागौर, बाड़मेर, करौली, जालोर, चित्तोडगढ़, जैसलमेर में भी आंकड़ा 12 से 14 प्रतिशत कम हुआ है। पाली में बाल विवाह में सर्वाधिक 19 प्रतिशत की कमी आई है।

जमीनी स्तर पर कार्य जरूरी
सर्वे में बाल विवाह के आंकड़े कम हुए हैं लेकिन अभी जमीनी स्तर पर कार्य करने की आवश्यकता है। ग्रामीण इलाकों में चोरी-छिपे बाल विवाह हो रहे हैं,जिस पर सख्ती जरूरी है। बच्चियों की शादी की उम्र बढ़ाने का केन्द्र का फैसला बालक-बालिकाओं को समान अधिकार देने तक तो ठीक है लेकिन इससे दुष्परिणाम ज्यादा होंगे। बाल विवाह बढ़ेगे।
-डॉ. कृति भारती
फाउंडर एवं मैनेजिंग ट्रस्टी, सारथी ट्रस्ट

राजस्थान में बाल विवाह पूरी तरह से कम नहीं हुए हैं लेकिन यह सच्चाई है कि बाल विवाह की उम्र बढ़ गई है। पहले गोद में बिठाकर बालिकाओं की जहां शादी होती थी, अब 16, 17 वर्ष तक शादी हो रही है। केन्द्र सरकार को बच्चियों की शादी की उम्र बढ़ाने की बजाय उनकी शिक्षा और स्वास्थ्य की उपलब्धता बढ़ानी चाहिए।
-उषा चौधरी, निदेशक, विकल्प संस्थान

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

School Holidays in February 2022: जनवरी में खुले नहीं और फरवरी में इतने दिन की है छुट्टी, जानिए कितनी छुट्टियां हैं पूरे सालइन 4 तारीखों में जन्मी लड़कियां पति की चमका देती हैं किस्मत, होती है बेहद लकी“बेड पर भी ज्यादा टाइम लगाते हैं” दीपिका पादुकोण ने खोला रणवीर सिंह का बेडरूम सीक्रेटइन 4 राशियों की लड़कियां जिस घर में करती हैं शादी वहां धन-धान्य की नहीं रहती कमीमां लक्ष्मी का रूप मानी जाती हैं इन नाम वाली लड़कियां, चमका देती हैं ससुराल वालों की किस्मतजैक कैलिस ने चुनी इतिहास की सर्वश्रेष्ठ ऑलटाइम XI, 3 भारतीय खिलाड़ियों को दी जगहकम उम्र में ही दौलत शोहरत हासिल कर लेते हैं इन 4 राशियों के लोग, होते हैं मेहनतीइन 4 नाम वाले लोगों को लाइफ में एक बार ही होता है सच्चा प्यार, अपने पार्टनर के दिल पर करते हैं राज

बड़ी खबरें

दिल्ली में हटा वीकेंड कर्फ्यू, बाजारों से ऑड-ईवन भी हुआ खत्म, जानिए और किन प्रतिबंधों में दी गई छूटराहुल गांधी ने फॉलोवर्स सीमित होने पर Twitter पर लगाया सरकार के दबाव में काम करने का आरोप, जानिए क्या मिला जवाबकेरल और कर्नाटक में 50 हजार तक सामने आ रहे नए केस, जानिए अन्य राज्यों का हालटाटा ग्रुप का हो जाएगा अब एयर इंडिया, कर्मचारियों को क्या होगा फायदा और नुकसान?झारखंड में नक्सलियों ने ब्लास्ट कर उड़ाया रेलवे ट्रैक, राजधानी एक्सप्रेस सहित कई ट्रेनों का रूट बदलाUttarakhand Assembly Elections 2022: हरीश रावत की सीट बदली, देखिए Congress की नई लिस्टCG की बेटी अंकिता ने किया लद्दाख की 6080 मीटर सबसे ऊंची बर्फीली चोटी फतह, माइनस 39 डिग्री टेम्प्रेचर में भी हौसला रहा बुलंदUP Election 2022: प्रचार करने आए भाजपा के एक और उम्मीदवार को स्थानीय लोगों ने भगाया
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.