video : हांफ रही 108 एम्बुलेंस ने अटकाई सांसें

Jitendra Singh Rathore

Publish: Mar, 17 2018 06:25:49 PM (IST)

Jodhpur, Rajasthan, India

जोधपुर/फलोदी. आपातकालीन 108 एम्बुलेंस सेवाएं किस हाल में है? इसका अंदाजा शनिवार को फलोदी में पेश आए हालातों से स्पष्ट हुआ। दरअसल शनिवार सुबह नेशनल हाइवे-11 पर मिले एक अज्ञात घायल 108 एम्बुलेंस द्वारा को फलोदी के राजकीय चिकित्सालय लाया गया। जहां प्राथमिक उपचार के कुछ मिनटों बाद ही जोधपुर रेफर करने के लिए रेफर टिकट बना दिया गया, लेकिन एम्बुलेंस उपलब्ध नहीं हो पाने के कारण गंभीर घायल चार घण्टे तक अस्पताल में तड़पता रहा। इस दौरान चिकित्सालय से 108 को बुलाने के लिए सुबह 9 बजे से प्रयास शुरू किए गए, लेकिन फलोदी की एम्बुलेंस जोधपुर तक की लम्बी दूरी तय करने जैसी स्थिति में नहीं होने के कारण दूसरी जगह से एम्बुलेंस बुलाई, तो वह भी बीच राह में पंक्चर हो गई, फिर आखिर में फलोदी से करीब 90 किमी दूर केलनसर से आई 108 एम्बुलेंस दोपहर 12.52 बजे घायल को पुलिस कांस्टेबल के साथ जोधपुर लेकर गई।

 

यूं चला उलझन का दौर

सुबह 8.45 बजे - घायल को अस्पताल लाया गया तथा उपचार शुरू किया। सुबह 9.00 बजे- रेफर टिकट तैयार किया। सुबह 9.08 बजे- अस्पताल से चिकित्सक ने एम्बुलेंस के लिए कॉल किया। सुबह 9.09 बजे- पुलिस को सूचना दी। सुबह 9.59 बजे- एम्बुलेंस नहीं आई, फिर कुछ समय बाद आऊ से रवाना हुई एम्बुलेंस बीच राह में पंक्चर हुई। सुबह 10.19 बजे - केलनसर से एम्बुलेंस भेजने की बात कही। सुबह 10.30 बजे - केलनसर से एम्बुलेंस रवाना हुई। दोपहर 12.15 बजे- एम्बुलेंस फलोदी चिकित्सालय पंहुची तथा काफी देर तक घायल के साथ पुलिसकर्मी को ले जाने की बातचीत हुई। दोपहर 12.52 बजे- रेफर किए गए घायल को एम्बुलेंस जोधपुर लेकर गई।

 

व्यवस्थाएं सुधरे तो समय पर मिले राहत
घायलों को समय पर उपचार उपलब्ध करवाने के लिए विभाग को आपातकालीन सुविधाओं की व्यवस्थाओं में सुधार करने की आवश्यकता है। कई छोटे अस्पतालों से रेफर किए गए गंभीर घायलों को तत्काल एम्बुलेंस द्वारा नजदीकी जिला स्तरीय चिकित्सालयों में समय पर पंहुचा दिए जाने से उनकी जान बच जाती है तथा कई बार अव्यवस्थाएं घायलों की जान पर बन आती है।

इनका कहना है
फलोदी में 108 एम्बुलेंस करीब 1.50 लाख किमी चल चुकी हैं तथा गाड़ी की विभिन्न समस्याओं सहित पूरी रिपोर्ट उच्चाधिकारियों को समय-समय पर भेजकर नई एम्बुलेंस की मांग की जाती है। यह एम्बुलेंस लम्बी दूरी तय नहीं कर सकती हैं तथा सीएचसी फलोदी की बेस एम्बुलेंस को 108 के साथ शामिल करने संबंधित कोई जानकारी कार्यालय को नहीं मिली है। अगर यह एम्बुलेंस 108 में शामिल हो तो इस उपयोग शुरू कर दिया जाएगा।
डॉ. सुरेन्द्र जाखड़, खण्ड मुख्य चिकित्सा अधिकारी, फलोदी

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned