तहखाने में छुपाई २६५ पेटी शराब जब्त, एक गिरफ्तार

- गुड़ा बिश्नोइयान में पुलिस कार्रवाई

By: Vikas Choudhary

Updated: 04 Apr 2019, 01:00 AM IST

 

जोधपुर.
गुड़ा बिश्नोइयान गांव में जांगुओं की ढाणी में एक मकान में तहखाने में छुपाकर रखे देसी शराब के २६५ कार्टन बुधवार को जब्त किए गए। इस मामले में एक शख्स को गिरफ्तार किया गया। शराब चुनाव के दौरान बेची जानी थी। कुड़ी भगतासनी थाने में मामला दर्ज किया गया है।

चार दिन पूर्व ही तहखाने पर किया था प्लास्टर

पुलिस उपायुक्त (पश्चिम) मोनिका सेन के अनुसार जांगुओं की ढाणी निवासी भागीरथराम बिश्नोई के मकान में शराब की बड़ी खेप होने की सूचना के आधार पर कुड़ी भगतासनी और बासनी थाना पुलिस ने सुबह मकान में दबिश दी। करीब एक घंटे तक तलाशी लेने के बावजूद मकान में कुछ नहीं मिला। दुबारा जांच की तो सीढि़यों के नीचे तहखाना होने का संदेह हुआ। इसे खोदा तो तहखाने की सीढि़यां नजर आईं।

टांकेनुमा तहखाने से देसी शराब के २६५ कार्टन जब्त कर जांगुओं की ढाणी निवासी भागीरथराम पुत्र बाबूलाल बिश्नोई को आबकारी अधिनियम में मामला दर्ज कर गिरफ्तार किया गया। उसके खिलाफ पाली के रानी, नागौर और आबकारी के ग्रामीण थाने में अवैध शराब के मामले पहले से दर्ज हैं।

एडीसीपी (पश्चिम) कैलाशदान रतनू व एसीपी (बोरानाडा) मांगीलाल के नेतृत्व में की गई कार्रवाई में बासनी और कुड़ी भगतासनी थाने के अधिकारी और जवान शामिल थे।

लाइसेंस समाप्त होने पर बची शराब छुपाई थी घर में

भागीरथ बिश्नोई के ***** के नाम पाली में शराब का ठेका था जो ३१ मार्च को समाप्त हो गया। पुलिस के अनुसार नया लाइसेंस न मिलने पर बची शराब की पेटियां मकान में तहखाना बनाकर छुपाई गईं होंगी।

ओरण भूमि में शराब गाडऩे वाला गिरफ्तार
कुड़ी भगतासनी थाना पुलिस ने गत सोमवार को गुड़ा बिश्नोइयान गांव के बालाजी नगर की ओरण भूमि में छुपाकर रखी ९८ पेटी शराब जब्त की थी। इस मामले में बुधवार को मूलत: बालाजी नगर में झागों की ढाणी हाल झालामण्ड में हनुमान धड़ी निवासी हुकमाराम पुत्र हिम्मताराम बिश्नोई को गिरफ्तार किया गया। आरोपी कुड़ी भगतासनी थाने का हिस्ट्रीशीटर है। अवैध शराब के छह मामलों में कोर्ट में चालान पेश हो चुका है।

Vikas Choudhary Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned