जोधपुर में बरसात : काल बनकर गिरा पेड़, 3 इंच बारिश ने बुझा दिए 3 घरों के चिराग

गुरुवार शाम को हुई बारिश ने फिर यह साबित कर दिया कि आपदा प्रबंधन में हम फिसड्डी हैं। वहीं सुरक्षा की दृष्टि से उदासीन है। कल बारिश के बाद दीवार ढहने से तीन युवाओं की मौत ने इंतजामों की पोल खोल दी।

By: Harshwardhan bhati

Published: 20 Jul 2018, 10:08 AM IST

Jodhpur, Rajasthan, India


जोधपुर. मूसलाधार बारिश के दौरान गुरुवार शाम तीन पेड़ गिरने के बाद पावटा ए रोड स्थित होटल की अंडरग्राउंड पार्र्किंग की दीवार के ढहने से वहां खड़े दो छात्र व एक अन्य युवक के मलबे में दबने से मौत हो गई। दोनों छात्र मित्र की जन्मदिन पार्टी मनाने के बाद घर जाने के लिए बाहर निकले थे।

महामंदिर थानाधिकारी संजय बोथरा ने बताया कि सीएस की कोचिंग कर रहे कार्तिक का गुरुवार को जन्मदिन था। दोपहर बाद पावटा ए रोड स्थित होटल मैपल अभय के अंडरग्राउंड में दोस्तों की पार्टी थी। पार्टी के बाद छात्र वाहन लेने पहुंचे। तभी अचानक पड़ोस में के मकान में खड़े तीन पेड़ होटल की दीवार पर आ गिरे। इससे दीवार ढह गई। दीवार गिरती देख कुछ दूरी पर खड़े तीन छात्रों ने भागकर जान बचा ली। पावटा निवासी सिद्धांत (17) पुत्र इन्द्रसिंह व मूलत: (सगतपुरिया) भीलवाड़ा हाल जालोरियों का बास निवासी हिमांशु (18) पुत्र पवन पारीक व कलाल कॉलोनी निवासी कमलेश (29) पुत्र चन्द्रमल कलाल मलबे में दब गए।
साथी युवकों की सूचना पर होटल के कर्मचारी व आस-पास के लोग आए और दीवार का मलबा हटाने का प्रयास शुरू किया। पुलिस अधिकारी भी मौके पर पहुंचे। मशक्कत के बाद सिद्धांत व हिमांशु को निकालकर नजदीक ही पावटा सैटेलाइट अस्पताल ले जाया गया। दोनों को मथुरादास माथुर अस्पताल रैफर कर दिया गया, लेकिन रास्ते में दोनों की मृत्यु हो गई। कमलेश को भी बाहर निकाल लिया गया। उसे नजदीक स्थित पावटा सैटेलाइट अस्पताल ले जाने पर चिकित्सकों ने मृत बताया। तीनों के शव महात्मा गांधी अस्पताल की मोर्चरी में रखवाए गए हैं।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned