script3 students of Jodhpur in merit in cost accountant | कॉस्ट एकाउंटेंट में जोधपुर के 3 विद्यार्थी मैरिट में | Patrika News

कॉस्ट एकाउंटेंट में जोधपुर के 3 विद्यार्थी मैरिट में

Institute of Cost Accountants of India

- फाइनल ईयर में कृष्ण अवतार की 6 व देवेश की 13 वी रैंक और इंटरमीडिएट में गजल की छठी रैंक

जोधपुर

Published: February 20, 2022 07:55:55 pm

जोधपुर. दी इंस्टीट्यूट ऑफ़ कॉस्ट एकाउंटेंट्स ऑफ़ इंडिया ने शनिवार को कॉस्ट एकाउटेंट फाइनल ईयर और इंटरमीडिएट का परीक्षा परिणाम जारी कर दिया। इस बार जोधपुर से एक साथ तीन मैरिट आई है। फाइनल ईयर में कृष्ण अवतार गोयल ने पूरे देश में छठा स्थान प्राप्त किया, जबकि देवेश सांखला ने 13वी रैंक हासिल की। इंटरमीडिएट परीक्षा में गजल लुंकड़ मैरिट में छठे स्थान पर रही। परीक्षाएं दिसम्बर में हुई थी।
कॉस्ट एकाउंटेंट में जोधपुर के 3 विद्यार्थी मैरिट में
कॉस्ट एकाउंटेंट में जोधपुर के 3 विद्यार्थी मैरिट में
जोधपुर चेप्टर के चेयरमैन वीरेंद्र सुराणा और केके व्यास ने बताया कि इस बार जोधपुर चेप्टर का कॉस्ट एकाउंटेंट्स फाइनल का परिणाम 21.13 प्रतिशत, कॉस्ट एकाउंटेंट्स इंटरमीडिएट का परिणाम 20.63 प्रतिशत और कॉस्ट एकाउंटेंट्स फाउंडेशन का परिणाम 87.91 प्रतिशत रहा है।
एंटरप्रेन्योर बनेंगे कृष्ण अवतार

कृष्णअवतार ने 800 में से 483 अंक हासिल किए। उसने राजस्थान पत्रिका को बताया कि वह आगे जगह सबसे पहले कॉर्पोरेट का एक्सीपीरियंस लेंगे। उसे एंटरप्रेन्योरशिप करनी है ताकि कई मूलभूत समस्याओं का समाधान किया जा सके। कृष्ण की तीन बहनें हैं और तीनों ही रैंक होल्डर रही है। उसने बताया कि उसने पढ़ाई की प्रेरणा अपनी बहनों से ही मिलती है। ड्राईंग के शौकीन कृष्ण के पिता रामावतार बिजनेसमैन और माता सुशीला गृहिणी है।
10 घण्टे की कॉर्पोरेट जॉब करते हुए मैरिट में

देवेश सांखला ने फाइनल ईयर में 470 अंक हासिल करके देशभर में 13वी रैंक हासिल की। देवेश की रैंक इसलिए महत्वपूर्ण है क्योंकि वह एल एण्ड टी कम्पनी में कार्यरत है और नौकरी करते-करते पढ़ाई की। उसने छुट्टी भी नहीं ली। कॉस्ट एकाउटेंट्स में आठ पेपर होते हैं। देवेश ने अंत में केवल दस छुट्टी ली। उसने बताया कि अगर व्यक्ति लगातार कठिन मेहनत करता हो तो सफलता अवश्य मिलती है। देवेश के पिता अशोक कुमार बिजनेसमैन और माता मंजू बैंकर है।
सीए इंटर के बाद सीएमए इंटर में भी मैरिट

गजल लुंकड़ ने गत वर्ष फरवरी में चार्टर्ड एकाउंटेंट इंटरमीडिएट में देशभर में 34 वी रैंक हासिल की थी और इस बार कॉस्ट एकाउटेंट्स के इंटर में देशभर में 6वी रैंक प्राप्त की है। गजल आगे चलकर जॉब करना चाहती है। गजल ने बताया कि सतत अध्ययन ही उसकी सफलता का राज है। उसके पिता मनीष लुंकड़ बिजनेसमैन और माता लवीना गृहिणी है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

नाइजीरिया के चर्च में कार्यक्रम के दौरान मची भगदड़ से 31 की मौत, कई घायल, मृतकों में ज्यादातर बच्चे शामिल'पीएम मोदी ने बनाया भारत को मजबूत, जवाहरलाल नेहरू से उनकी नहीं की जा सकती तुलना'- कर्नाटक के सीएम बसवराज बोम्मईमहाराष्ट्र में Omicron के B.A.4 वेरिएंट के 5 और B.A.5 के 3 मामले आए सामने, अलर्ट जारीAsia Cup Hockey 2022: सुपर 4 राउंड के अपने पहले मैच में भारत ने जापान को 2-1 से हरायाRBI की रिपोर्ट का दावा - 'आपके पास मौजूद कैश हो सकता है नकली'कुत्ता घुमाने वाले IAS दम्पती के बचाव में उतरीं मेनका गांधी, ट्रांसफर पर नाराजगी जताईDGCA ने इंडिगो पर लगाया 5 लाख रुपए का जुर्माना, विकलांग बच्चे को प्लेन में चढ़ने से रोका थापंजाबः राज्यसभा चुनाव के लिए AAP के प्रत्याशियों की घोषणा, दोनों को मिल चुका पद्म श्री अवार्ड
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.