कोडीन फॉस्फेट की ३६० शीशियां जब्त, एक गिरफ्तार

Vikas Choudhary

Updated: 01 Nov 2019, 02:00:00 AM (IST)

Jodhpur, Jodhpur, Rajasthan, India

जोधपुर.
खांसी की दवा यानि कफ सीरप कोडीन फॉस्फेट नामक दवा का जोधपुर में भी नशे में रूप में उपयोग होने लगा है। देवनगर थाना पुलिस ने चौपासनी रोड पर प्रथम पुलिया चौकी के पास बुधवार रात मोटरसाइकिल सवार एक युवक से तीन कार्टन में भरी ३६० शीशियां कोडीन फॉस्फेट की जब्त कर उसे एनडीपीएस एक्ट में गिरफ्तार किया।
थानाधिकारी सत्यप्रकाश बिश्नोई के अनुसार गश्त के दौरान प्रथम पुलिया चौकी के पास संदिग्ध नजर आई मोटरसाइकिल को रोका गया। उस पर तीन कार्टन बंधे हुए थे। उप निरीक्षक गोविंद व्यास ने कार्टन की तलाश ली तो उसमें कोडीन फॉस्फेट दवा की शीशियां मिली। चालक जितेन्द्र बिश्नोई से दवाओं के बारे में पूछताछ की गई तो वह सकपका गया। प्रतिबंधित दवा के संबंध में उसके पास न तो अनुज्ञापत्र था और न ही कोई बिल। दवाओं की शीशी पर एमडिटस ब्राण्ड लगा था।
थानाधिकारी भी मौके पर पहुंचे और औषधि नियंत्रण अधिकारी किशोर पंवार भी मौके पर आए और जांच की। उन्होंने कफ सीरप कोडीन फॉस्फेट को एनडीपीएस एक्ट के प्रावधान में आने की जानकारी दी। एनडीपीएस एक्ट की धारा ८/२१ में मामला दर्ज कर खुडाला गांव निवासी जितेन्द्र पुत्र भंवरलाल बिश्नोई को गिरफ्तार किया गया। दवाई रूपी ड्रग्स के तीनों कार्टन जब्त कर लिए गए। प्रत्येक कार्टन में सौ एमएल की १२० शीशी भरी थी। राजीव गांधी नगर थानाधिकारी को जांच सौंपी गई है।
आरोपी ने मुकेश राजपुरोहित नामक व्यक्ति से मोबाइल पर सम्पर्क कर २५ हजार में कोडीन फॉस्फेट मंगाई थी। खुडाला गांव में पांच हजार रुपए मुनाफे के साथ तीस हजार रुपए में बेचने वाला था।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned