scriptACB action against wheat misappropriation in jodhpur | गरीब जनता के गेहूं पर यूं रसद अधिकारियों ने जमाई कुंडली, एसीबी कार्रवाई में सच सामने आने पर हुए भूमिगत | Patrika News

गरीब जनता के गेहूं पर यूं रसद अधिकारियों ने जमाई कुंडली, एसीबी कार्रवाई में सच सामने आने पर हुए भूमिगत

निर्मला मीणा की गिरफ्तारी के लिए ब्यूरो ने अभी प्रयास नहीं किए हैं, लेकिन ब्यूरो का मानना है कि वो भी गायब है

जोधपुर

Published: January 14, 2018 10:44:57 am

जोधपुर . तत्कालीन जिला रसद अधिकारी व अन्य ने आठ करोड़ रुपए का पैंतीस हजार क्विंटल गेहूं गबन करने के लिए न सिर्फ एक साथ तैंतीस हजार परिवार नए जुडऩा बताया था, बल्कि अतिरिक्त आवंटित पैंतीस हजार क्विंटल गेहूं राशन डीलर के फर्जी हस्ताक्षर कर कागजों में सप्लाई कर दिए थे। जबकि हकीकत में इन राशन डीलर तक गेहूं पहुंचा ही नहीं था। गरीबों के हिस्से का गेहूं आटा मिल सप्लाई किया गया था, जहां से वह बाजार में बेच दिया गया था। तत्कालीन जिला रसद अधिकारी व निलम्बित आईएएस निर्मला मीणा की अग्रिम जमानत याचिका खारिज होने के बाद शनिवार को चार एेसे राशन डीलर ब्यूरो के समक्ष पेश हुए और उन्होंने जांच में सहयोग करते हुए बयान दर्ज कराए। उधर, एसीबी ने निलम्बित आईएएस मीणा के अलावा अन्य तीनों आरोपियों के ठिकानों पर छापे मारे, लेकिन वे पकड़ में नहीं आए।
anti corruption bureau action in jodhpur
ACB, acb action, acb action in jodhpur, SP Ajaypal Lamba, rasad vibhag jodhpur, crime news of jodhpur, jodhpur news
 

पुलिस अधीक्षक (एसीबी) अजयपाल लाम्बा ने बताया कि प्रकरण में आरोपी लिपिक अशोक पालीवाल, आटा मिल का संचालक स्वरूपसिंह राजपुरोहित व ठेकेदार सुरेश उपाध्याय की तलाश करने के प्रयास शुरू कर दिए हैं। उनके ठिकानों पर दबिशें दी गईं, लेकिन भूमिगत होने से कोई पकड़ में नहीं आया। उधर, निर्मला मीणा की गिरफ्तारी के लिए ब्यूरो ने अभी प्रयास नहीं किए हैं, लेकिन ब्यूरो का मानना है कि वो भी गायब है।

 

गबन के आरोपियों पर शिकंजा कसा


ब्यूरो का कहना है कि ३५०२० क्विंटल गेहूं का वितरण कागजों में राशन डीलर को किया गया था। जबकि वास्तविकता में यह गेहूं डीलर के फर्जी हस्ताक्षर कर के कागजों में ही सप्लाई कि या गया था। चार एेसे डीलर ब्यूरो के पास पहुंचे और इस बारे में तत्कालीन डीएसओ व अन्य के खिलाफ बयान दिए। इनके अलावा भी कई डीलर्स ने ब्यूरो से सम्पर्क कर जांच करने में सहयोग का भरोसा दिलाया है। इन डीलर के बयान दर्ज होने के बाद ब्यूरो के पास निलम्बित आईएएस निर्मला मीणा के खिलाफ और ठोस प्रमाण हो गया है। इससे मीणा की मुश्किलें और बढ़ गई हैं।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Veer Mahan जिसनें WWE में मचा दिया है कोहराम, क्या बनेंगे भारत के तीसरे WWE चैंपियनName Astrology: इन नाम वाले लोगों के जीवन में अचानक से धनवान बनने का होता है योगफटाफट बनवा लीजिए घर, कम हो गए सरिया के दाम, जानिए बिल्डिंग मटेरियल के नए रेटबुध जल्द वृषभ राशि में होंगे मार्गी, इन 4 राशियों के लिए बेहद शुभ समय, बनेगा हर कामबेहद शार्प माइंड होते हैं इन 4 राशियों के लोग, बुध और शनि देव की रहती है इन पर कृपाज्योतिष: रूठे हुए भाग्य का फिर से पाना है साथ तो करें ये 3 आसन से कामराजस्थान में देर रात उत्पात मचा सकता है अंधड़, ओलावृष्टि की भी संभावनाशादी के 3 दिन बाद तक दूल्हा-दुल्हन नहीं जा सकते टॉयलेट! वजह जानकर हैरान हो जाएंगे आप

बड़ी खबरें

जम्मू कश्मीरः बारामूला में जैश-ए-मोहम्मद के तीन पाकिस्तानी आतंकी ढेर, एक पुलिसकर्मी शहीदDelhi News Live Updates: दिल्‍ली में फैक्‍ट्री से 21 बाल मजदूर छुड़ाए गए, आरोपी फैक्ट्री मालिक की 6 फैक्ट्रियां सीलसुप्रीम कोर्ट में पूजा स्थल कानून के खिलाफ दायर की गई याचिका, संवैधानिक वैधता को चुनौतीTexas Shooting: अमरीकी राष्ट्रपति ने टेक्सास फायरिंग की घटना को बताया नरसंहार, बोले- दर्द को एक्शन में बदलने का वक्तजातीय जनगणना सहित कई मुद्दों को लेकर आज भारत बंद, जानिए कहां रहेगा इसका ज्यादा असरपंजाब CM Bhagwant Mann का एक और बड़ा फैसला, सरकारी नौकरियों के लिए पंजाबी भाषा है जरूरीकपिल सिब्बल समाजवादी पार्टी के टिकट से जाएंगे राज्यसभा, बताई कांग्रेस छोड़ने की वजहशिवसेना नेता यशवंत जाधव की बढ़ी मुश्किलें, ED ने जारी किया समन
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.