video : दो कांस्टेबलों की यह करतूत आई सामने, प्रदर्शन कर कांस्टेबल को हटाने की उठी मांग

Manish Panwar

Publish: Feb, 23 2018 09:21:42 AM (IST)

Jodhpur, Rajasthan, India

पुलिस कर्मचारियों द्वारा आमजन को बेवजह परेशान कर अवैध वसूली का आरोप लगाते हुए ग्रामीणों ने गुरुवार को पुलिस चौकी पर धरना देकर विरोध प्रदर्शन किया तथा पुलिसकर्मियों को हटवाने की मांग की।
पुलिस कर्मचारियों द्वारा आमजन को बेवजह परेशान कर अवैध वसूली का आरोप लगाते हुए ग्रामीणों ने गुरुवार को पुलिस चौकी पर धरना देकर विरोध प्रदर्शन किया तथा पुलिसकर्मियों को हटवाने की मांग की। ग्रामीणों ने शेरगढ़ थानाप्रभारी के नाम पुलिस बीट अधिकारी पन्नाराम को ज्ञापन सौंपकर बताया कि सरपंच पारसमल खत्री के घर के पास शौचालय निर्माण के लिए बुधवार रात्रि 8 बजे भजनलाल, अशोक व रमेश अपने टै्रक्टर ट्रोली में पत्थर भरकर ले जा रहे थे। पंचायत समिति सेखाला से आगे निकलते ही सामने रोड पर बिना नम्बरी पिकअप गाडी में सवार अज्ञात लोगों ने टे्रक्टर को रुकवा चालक सहित अन्य लोगों को डरा-धमकाकर पुलिस चौकी ले गए। वहां मौजूद सिपाही अर्जुनराम व सुखाराम ने बीस हजार रुपए की मांग रखी। इतने पैसे नहीं होने पर सात हजार रुपए दिए। इसके बाद टै्रक्टर व सवार चारों को यह कहकर छोड़ दिया कि इसके बारे में किसी को बताया तो झूठे मुकदमे के तहत जेल की हवा खानी पडेग़ी। महिलाएं भी प्रदर्शन में शामिल सैकड़ों ग्रामीणों के साथ महिलाओं ने भी दोनों पुलिसकर्मियों को अवैध वसूली एवं महिलाओं को परेशान करने को लेकर बीट प्राभारी पन्नाराम के नाम ज्ञापन सौंपकर उन्हें हटाने की मांग की। इस दौरान भागीरथ, भजनाराम, अशोक, नारायणराम, सजाराम, जोराराम, भवरलाल, खमुराम, प्रकाश सहित सैकड़ों ग्रामीण उपस्थित थे। बीट प्रभारी पन्नाराम ने बताया कि यह पुलिस चौकी रिकार्ड में नही है तथा अस्थाई रूप से लगाई गई है। पुलिस कांस्टेबलों पर ग्रामीणों के आरोप देखते हुए उच्च अधिकारियों के सामने बात रखकर हटवाने की कार्यवाही की जाएगी।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned