अठारह माह बाद शुरू हुई एम्स ओपीडी में पहले ही दिन उमड़ी भीड़

 

-धक्का-मुक्की में फूटे कांच, काबू करने में आया जोर

By: Abhishek Bissa

Published: 13 Sep 2021, 10:20 PM IST

Jodhpur, Jodhpur, Rajasthan, India

जोधपुर. लगभग 18 माह बाद शुरू हुए एम्स-जोधपुर की ओपीडी में सोमवार को पहले दिन ही इतने लोग उमड़ कि व्यवस्थाएं छोटी पड़ गई। लगभग डेढ़ हजार लोग आउटडोर में चिकित्सकों को दिखाने पहुंचे। इतनी भीड़ का अंदाजा एम्स प्रशासन को भी नहीं था। इसी दौरान बलात्कार के मामले में सजा काट रहे आसाराम को स्वास्थ्य जांच के लिए लाया गया तो उसके समर्थकों ने भीड़ ने भी कोढ़ में खाज का काम किया। एक बार तो भीड़ बेकाबू हो गई। इस दौरान हुई धक्का मुक्की में गेट के कांच तक फूट गए। सुरक्षा गाड्र्स ने बड़ी मुश्किल से भीड़ को नियंत्रित किया।

एम्स पहुंचे मरीजों ने कहा कि एम्स ने ओपीडी हॉल में ज्यादा भीड़ को रोकने के लिए आधे मरीजों को गेट के बाहर खड़ा कर दिया। इस दौरान कई लोग गर्मी व उमस के कारण परेशान हो गए। इधर भीड़ जल्दी ओपीडी में घुसने की कोशिश करने लगी। इस दौरान धक्का मुक्की भी हुई। सुरक्षा गार्ड को भीड़ को काबू करने में काफी मशक्कत करनी पड़ी।

एक पहुंच गए डेढ़ हजार लोग

एम्स के अधीक्षक डॉ. एमके गर्ग के अनुसार पहले दिन 15 सौ मरीज आउटडोर में दिखाने पहुंचे। एम्स का आउटडोर खोलने का प्लान पिछले एक-डेढ़ सप्ताह से था। उल्लेखनीय हैं कि ओपीडी में जनरल मेडिसिन, सर्जरी, ऑर्थोपेडिक, गायनी, शिशु रोग, पीएमआर, आंख, इएनटी व चर्म रोग के मरीज स्लॉट बुकिंग से आ रहे हैं। अन्य विभागों में मरीजों के लिए 96 स्लॉट रखे गए हैं। एम्स डॉक्टर्स तय तिथि पर सीधे मरीज आउटडोर में देखेंगे। तय तिथि पर मरीज नहीं आएगा तो उसको पंजीयन कराना पड़ेगा।

एमडीएम अस्पताल में भी रही भीड़
संभाग के सबसे बड़े मथुरादास माथुर अस्पताल में भी मरीजों की भीड़ रही। ऐसे में विभिन्न काउंटर्स व चिकित्सक कक्ष के बाहर लम्बी कतारें देखी गई। हालांकि रविवार के अवकाश के बाद खुलने वाली ओपीडी में बड़े डॉक्टर्स का आउटडोर रहने के कारण भी सोमवार को अक्सर भीड़ रहती है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned