एम्सकर्मी को युवती से मिलाया, बलात्कार में फंसाने की धमकी देकर 70 लाख मांगे

- तीन दिन अलग-अलग जगहों पर बंधक बनाकर रखा, रेलवे स्टेशन के बाहर से छुड़ाया
- युवती व मध्यस्थ महिला सहित छह गिरफ्तार, साजिश रचने वाला रिश्ते में भाई फरार

By: Vikas Choudhary

Published: 08 Oct 2021, 01:22 AM IST

Jodhpur, Jodhpur, Rajasthan, India

जोधपुर.
एम्स में संविदाकर्मी वार्ड बॉय को रिश्ते में भाई के मार्फत युवती से मिलना उस समय भारी पड़ गया जब चार-पांच जनों ने उसे बनाड़ थानान्तर्गत सारण नगर के मकान में बंधक बना लिया। बलात्कार के मामले में फंसाने की धमकी देकर 70 लाख रुपए फिरौती मांगी गई। बनाड़ थाना पुलिस ने रेलवे स्टेशन के बाहर से एम्स के संविदाकर्मी को छुड़ाकर कॉल गर्ल, मध्यस्थ महिला सहित छह जनों को गिरफ्तार किया। मास्टर माइण्ड रिश्ते में भाई पकड़ में नहीं आ सका।

थानाधिकारी सीताराम खोजा के अनुसार बाड़मेर जिले में धोरीमन्ना तहसील में अजाणियों की ढाणी निवासी एक युवक एम्स में संविदा पर वार्ड बॉय है। रिश्ते में भाई पाबूराम पुत्र प्रतापाराम उसे गत 3 अक्टूबर की रात एक युवती से मिलाने के लिए सारण नगर में मित्र के कमरे ले गया था। उसे युवती के पास छोड़ पाबूराम बाहर निकल गया था। कुछ देर बाद कमरे में दो-तीन युवक घुसे। उन्होंने खुद को युवती का रिश्तेदार बताया और युवती से बलात्कार करने का आरोप लगाने लगे। साथ ही बलात्कार व एससी-एसटी के मामले में फंसाकर जेल भेजने की धमकी देने लगे।
यह सुन एम्सकर्मी घबरा गया। वह खुद को निर्दोष बताने लगा, लेकिन युवती व युवकों ने उसे बंधक बना लिया। उससे पिता के मोबाइल नम्बर लिए और उन्हें कॉल कर पुत्र को छोडऩे के बदले 70 लाख रुपए फिरौती मांगी। ऐसा न करने पर बलात्कार के मामले में फंसाने की धमकियां दी।

इस बीच, किसी ने एम्सकर्मी के हनी ट्रैप में फंसे होने के बारे में बनाड़ थाना पुलिस को सूचना दी। मोबाइल लोकेशन से तलाश की गई। तब तक आरोपी रेलवे स्टेशन रोड की होटल तक पहुंच गए। पुलिस ने होटलों की तलाशी ली, लेकिन भनक लगने पर आरोपी होटल से निकल गए। तलाश के दौरान रेलवे स्टेशन के बाहर से पन्नाराम जाट व विनीत कुमार को पकड़कर एम्सकर्मी को छुड़ाया गया। इन्हें थाने लाकर पूछताछ की गई। तब अन्य के नाम सामने आए। अलग-अलग जगहों पर दबिश देकर युवती व मध्यस्थ महिला सहित महेन्द्र व विकास मान को हिरासत में लिया गया।
वारदात स्वीकारने पर धोरीमन्ना में रावों की बेनी लुकू निवासी पन्नाराम उर्फ पवन पुत्र बींजाराम जाट, मूलत: अगरचंद फतेहचंद कॉलोनी हाल सारण नगर निवासी विनीत कुमार पुत्र जगदीश प्रसाद मेघवाल, खेजड़ला निवासी महेन्द्र उर्फ मुकेश पुत्र नारायणराम जाट, झुंझुनूं में भुवाना तहसील के भीर निवासी विकास मान पुत्र लीलाधर जाट, टूंट की बाड़ी निवासी मध्यस्थ महिला और महाराष्ट्र में नागपुर की युवती को गिरफ्तार किया गया।

कार्रवाई में एसआइ हरिमन, एएसआइ गंगाराम, हेड कांस्टेबल मदनलाल, जस्साराम, कांस्टेबल नेमाराम, हनुमानसिंह बेनीवाल, महिपाल भाकर, बीरबल खोजा, सुमन्त आदि शामिल थे।
रिश्ते में भाई गांव पहुंचा, रुपए देने का दबाव डाला

उधर, एम्सकर्मी का रिश्ते में भाई पाबूराम पकड़ में नहीं आ सका। उसी ने अन्य युवकों के साथ मिलकर एम्सकर्मी से मोटी रकम ऐंठने की साजिश रची थी। वह एम्सकर्मी को युवती के पास छोड़कर उसके गांव पहुंच गया था। तब तक पिता के पास फिरौती के फोन आने लग गए थे। पाबूराम ने पिता पर रुपए देने के लिए दबाव डाला।
रुपए देने में असमर्थता जताई तो भूखण्ड मांगा

आरोपियों की धमकियों से डरे-सहमे एम्सकर्मी के पिता व अन्य परिजन जोधपुर आए। उन्होंने अपहरणकर्ताओं से सम्पर्क कर मुलाकात तक कर ली, लेकिन 70 लाख रुपए देने में असमर्थता जताई तब आरोपियों ने कोई भूखण्ड नाम कराने की धमकियां देनी शुरू कर दी थी।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned