LIVE UPDATE: आसाराम केस : संगीनों के साये में जेल में लगी कोर्ट, जेल में ही किस्मत का फैसला

आसाराम के फैसले के मद्देनजर जोधपुर छावनी बना रहा

शहर के चप्पे-चप्पे पर पुलिस के सशस्त्र जवान नजर आए

 

By: M I Zahir

Published: 25 Apr 2018, 10:51 AM IST

जोधपुर .अपने ही गुरुकुल की नाबालिग से यौन दुराचार के आरोपी आसाराम के फैसले के मद़देनजर जोधपुर सेंट्रल जेल में अस्थाई कोर्ट लगी। नाबालिग से दुष्कर्म मामले में पिछले 56 माह से सेंट्रल जेल में बंद आसाराम व चार सहयोगियो की किस्मत के फैसले का दिन बहुत अहम रहा। अनुसूचित जाति जनजाति न्यायालय के विशिष्ट न्यायाधीश मधुसूदन शर्मा जेल परिसर में बनाई गई विशेष कोर्ट में बैठे।

जज ने दोनों पक्षों की बहस ध्यान से सुनी

इस दौरान आसाराम उर्फ आसूमल सिरूमलानी और पीडि़ता के वकीलों ने जोरदार तर्क रखे। दोनों पक्षों में कानूनी नजीर पेश करते हुए बहस हुई। जज मधुसूदन शर्मा ने दोनों पक्षों की बहस ध्यान से सुनी। जज ने 200 पेजोंके केस का बारीकी से अध्ययन किया। जेल के बंदियों के लिए भी जेल में कोर्ट लगना और फैसला होना कौतूहल का विषय और आप में एक नया अनुभव रहा। जेल के बाहर मीडिया के अलावा सभी के एंट्री बंद कर दी गई। इस दौरान हर जगह पुलिस के सशस्त्र जवान तैनात नजर आए।

पुलिस छावनी बना रहा जोधपुर शहर

एक ओर जहां जेल के अंदर और जेल के बाहर एसटीएफ के सुरक्षाकर्मी तैनात रहे, वहीं फैसले के मद्देनजर पूरा शहर छावनी बना रहा। पुलिस ने सुरक्षा व्यवस्था बनाए रखने में अपनी तरफ से कहीं कोई कसर नहीं छोड़ी। इस दौरान पूरे की शहर किलेबंदी की गई। इसे लेकर जोधपुर में भारी सुरक्षा जाब्ता तैनात किया गया। पुंलिस कमिश्नर अशोक राठौड़ ने शहर में सुरक्षा की कमान खुद संभाल कर रखी थी।

चप्पे-चप्पे पर पुलिस बल तैनात रहा
शहर में करीब 2000 से अधिक पुलिसकर्मी तैनात नजर आए। पुलिस रेलवे स्टेशन, बस स्टैंड, आश्रम व शहर के प्रमुख नाकों पर तैनात दिखी। किसी भी अनहोनी से निपटने के लिए 700 जवानों को रिजर्व रखा गया था। जोधपुर रेलवे स्टेशन, बस स्टैंड, पब्लिक पार्क, हाइकोर्ट रोड, नई सड़क व सोजती गेट सहित आसपास के इलाकों पर चप्पे-चप्पे पर पुलिस बल तैनात रहा।

Show More
M I Zahir Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned