संवत्सरी प्रतिक्रमण में उमड़ा जैन समाज

 

पर्युषण आराधना में आज तेरापंथ जैन समाज मनाएगा संवत्सरी

By: Nandkishor Sharma

Published: 11 Sep 2021, 12:24 PM IST

जोधपुर. प्रत्यक्ष-अप्रत्यक्ष सभी पापों को रोम-रोम से विसर्जन कर देने से जुड़ा पर्वाधिराज पर्युषण महापर्व का आठवें दिन शुक्रवार को संवत्सरी के रूप में मनाया गया। संवत्सरी क्षमापना के उपलक्ष्य में जैन समाज के लोगों ने एक दूसरे को मिच्छामि दुक्कड़म...एवं खमत खामणा आदि संबोधन के साथ क्षमायाचना की। जैन समाज के लोग उपवास, एकासन, आयंबिल तप करते हुए साधु-साध्वियों के सान्निध्य में संवत्सरी प्रतिक्रमण किया। प्रतिक्रमण के बाद जैन समाज के लोगों ने जाने अंजाने, प्रत्यक्ष-अप्रत्यक्ष हुए अपराधों भूलों के लिए रिश्तेदारों, मित्रों, परिचितों से क्षमायाचना की।

तेरापंथ व स्थानकवासी समाज की संवत्सरी आज, मैत्री दिवस कल
साधुमार्गी जैन परम्परा का संवत्सरी महापर्व क्षमापना दिवस के रूप में शनिवार 11 सितम्बर को मनाया जाएगा। तेरापंथ समाज की ओर से ओसवाल कम्युनिटी सेंटर में पर्युषण महापर्व का सातवां दिन ध्यान दिवस के रूप में मुनि तत्वरूचि के सान्निध्य में व साध्वी पुण्यप्रभा के सान्निध्य में तेरापंथ भवन अमरनगर में मनाया गया। तेयुप के राहुल जैन ने बताया 11 सितम्बर को संवत्सरी व 12 सितम्बर को मैत्री पर्व क्षमायाचना दिवस मनाया जाएगा। तेरापंथ प्रोफेशनल

फ ोरम की जोधपुर शाखा की ओर से ओसवाल कम्युनिटी सेंटर में एक्युपंक्चर विधि से चिकित्सा शिविर का आयोजन किया गया। अखिल भारतीय स्थानकवासी जयमल जैन श्रावक संघ के उपाध्यक्ष देवराज बोहरा तथा सचिव गौतम खिंवसरा ने बताया कि पावटा बी रोड स्थित चौरडिय़ा भवन में पर्यूषण पर्व पर एकासना, तप, जीव दया, नवकार मंत्र का जाप, कल्प सूत्र वाचन, अंतगड़दशांक सूत्र का वाचन, सहित सामूहिक प्रतिक्रमण के कार्यक्रम में बड़ी संख्या में श्रावक पहुंचे।

भिक्षु भक्ति संध्या में झूम उठे श्रावक
तेरापंथ युवक परिषद जोधपुर की ओर से पर्युषण महापर्व के उपलक्ष्य में भिक्षु भक्ति संध्या का आयोजन पावटा स्थित नीलकमल भवन में साध्वी कुसुमप्रज्ञा व समणी हंसप्रज्ञा के सानिध्य में किया गया। परिषद अध्यक्ष मितेश जैन ने बताया कि हनुमानगढ़ की अभिलाषा बांठिया ने भजनों की सरिता प्रवाहित कर सम्पूर्ण माहौल को भिक्षुमय बनाया। कार्यक्रम में युवक परिषद की ओर से तप आराधकों का अभिनंदन किया गया । सभा मंत्री महेंद्र सुराणा ने बताया कि शनिवार को जैन संवत्सरी महापर्व की आराधना पावटा स्थित नीलकमल भवन में की जाएगी । सुबह 9 बजे प्रवचन में भगवान महावीर का जीवन चरित्र, गणधरचरित्र, आचार्य पट्टावली, जैन एवं तेरापंथ धर्म का इतिहास के बारे में जानकारी दी जाएगी। शाम को 6.50 बजे प्रतिक्रमण होगा।

Nandkishor Sharma Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned