बाबा की बीज : जोधपुर मसूरिया बाबा रामदेव मेले में उमड़ा भक्तों का सैलाब

M.I. Zahir

Publish: Sep, 11 2018 07:36:50 PM (IST)

Jodhpur, Rajasthan, India

जोधपुर में बाबा रामदेव की बीज मंगलवार को श्रद्धा और उल्लास से मनाई जा रही है। इस मौके पर जोधपुर के मसूरिया में श्रद्धा का सैलाब उमड़ता हुआ नजर आया। जातरुओं में जोश, उमंग और उत्साह दिखाई दिया।

मंदिर परिसर वैष्णो देवी सा नजर आया

लोक देवता बाबा रामदेव के अवतरण दिवस भाद्रपद शुक्ल द्वितीया (बीज) पर मसूरिया स्थित बाबा रामदेव के गुरु बालीनाथ के समाधि स्थल पर पंचामृत अभिषेक के बाद बाबा के हजारों जातरुओं ने भाग लिया। मंदिर परिसर में भक्तों की लंबी कतारें नजर आईं। जातरू हाथों में रंगबिरंगी ध्वजा लिए जयघोष करते हुए मसूरिया मंदिर में उमड़ते हुए दिखाई दिए। महाआरती के दर्शन के लिए बाबा के जातरू अलसुबह से ही प्रवेश द्वार के बाहर तक लंबी कतारों में खड़े रहे। इससे पूरा मसूरिया मंदिर परिसर वैष्णो देवी सा नजर आया।

महिलाओं व पुरुषों के लिए सिंगल लाइन व्यवस्था

मंदिर मुख्य प्रवेश द्वार से मुख्य गर्भगृह समाधि स्थल मंदिर तक पहुंचने के लिए स्थाई बेरिकेडिंग्स के कारण जातरूओं को दर्शन में आसानी रही। मंदिर परिसर में जगह जगह सीसी टीवी कैमरे लगे दिखाई दिए। पुलिस प्रशासन ने आरती खत्म होने के बाद भी श्रद्धालुओं की बढ़ती संख्या के मद्देनजर मंदिर के मुख्य प्रवेश द्वार के बाद महिलाओं व पुरुषों के लिए सिंगल लाइन व्यवस्था रही। पुलिस की मुस्तैदी के कारण करीब एक किलोमीटर लंबी अलग अलग सिंगल लाइनें लगने के बावजूद दर्शनार्थियों ने आसानी से दर्शन किए।

250 स्वयंसेवकों ने सेवाएं दीं

मंदिर ट्रस्ट के पदाधिकारियों ने बताया कि अलसुबह से देर रात तक मंदिर परिसर में करीब पांच लाख श्रद्धालुओं ने दर्शन किए। शाम को हुई महाआरती में मंदिर संचालन करने वाले पीपा क्षत्रिय समस्त न्याति सभा ट्रस्ट के पदाधिकारियों सहित बड़ी संख्या में बाबा के भक्तों ने भाग लिया। मंदिर ट्रस्ट के पदाधिकारियों के संयोजन में दर्शन व्यवस्था संचालन के लिए तीन शिफ्ट में करीब 250 स्वयंसेवकों ने सेवाएं दीं।

सुरक्षा कारणों से बंद रखा गया
बाबा रामदेव के प्राकट्य दिवस पर मसूरिया बालीनाथ समाधि मंदिर शिखर पर ध्वजारोहण किया गया। ध्वजारोहण समारोह में विधायक सूर्यकांता व्यास, पाली के पूर्व सांसद बद्रीराम जाखड़, ब्राह्मण महासभा के अध्यक्ष कन्हैयालाल पारीक, अभाविप के पूर्व अध्यक्ष हेमंत घोष व मंदिर ट्रस्ट के पदाधिकारी मौजूद रहे। मसूरिया स्थित बाबा रामदेव के गुरु बालीनाथ की तपोस्थली (गुफा) को सुरक्षा कारणों से बंद रखा गया।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned