80 दिन की जगह 60 दिन में हो गया मूंग

Gajendra Singh Dahiya

Updated: 11 Sep 2019, 11:59:00 PM (IST)

Jodhpur, Jodhpur, Rajasthan, India

जोधपुर. इस बार मानसून की मेहर से फसलें लहलहा उठी हैं। केंद्रीय शुष्क क्षेत्र अनुसंधान संस्थान (काजरी) की ओर से किसानों को दी गई मूंग की वैरायटी ने जबरदस्त प्रदर्शन किया है। फसल 20 दिन पहले पक गई। 80 दिन में होने वाला मूंग 60 दिन में हो गया। मोठ, बाजरा, ग्वार और तिल की फसलें भी लहलहा रही हैं। मोठ में फली आने में थोड़ा समय है। बाजरा में सिड निकल आई है। किसानों ने सितम्बर के प्रथम सप्ताह में मूंग की कटाई शुरू कर दी है। बरसात का मौसम बना हुआ है। किसान ईश्वर से प्रार्थना कर रहे हैं कि बादल नहीं बरसें, अन्यथा खेतों में खड़ी फसल खराब हो जाएगी।

2017 में किसानों को देनी शुरू की नई वैरायटी
भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद (आइसीएआर) की ओर से कानपुर में विकसित मूंग की तीन वैरायटी आइपी2-3, आइपीएम2-3 और आइपीएम250-7 काजरी द्वारा वर्ष 2016 में यहां लाई गई। एक साल इसके बीज उगाकर 2017 से किसानों को देना शुरू किया। इस बाद मूंग की फसल 60-62 दिन में हो गई। काजरी के खेत में 5 जुलाई को बुवाई की और ठीक दो महीने बाद 5 सितम्बर को कटाई शुरू कर दी। मानसून की लगातार अच्छी बरसात से बेहतरीन मूंग का उत्पादन हुआ। मंूग की फली खुशबूदार है और खरपतवार भी नहीं हुई।

ग्वार 7 फुट पहुंचा, फली का इंतजार
पानी अधिक मिलने से ग्वार की फसल थोड़ा स्ट्रेस आ गया है। सामान्यत: ग्वार की ऊंचाई साढ़े चार फीट तक रहती है। इस बाद यह 7 फीट पहुंच गया है। बायोमास तो अधिक है, लेकिन इसमें फली कम नजर आ रही है।

घास की बम्पर पैदावार
जोधपुर में बरसात का वार्षिक औसत 360 मिलीमीटर के मुकाबले अब तक 531 मिलीमीटर बरसात हो चुकी है। अच्छी बरसात के कारण काजरी में घास की बम्पर पैदावार हुई है। सेवण, धामण, हाथी घास, नेपियर, मोडा सहित घास की किस्मों में अच्छा बायोमास आया है।

मूंग से किसानों को फायदा
‘मूंग का बाजार मूल्य अधिक है इसलिए किसानों व बाजार में इसकी डिमाण्ड अधिक है। अच्छी पैदावार से किसानों को काफी फायदा होगा।
डॉ. ओपी यादव, निदेशक, काजरी जोधपुर

Show More

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned