ब्ल्यूटूथ डिवाइस से नकल कर रहे चार परीक्षार्थी गिरफ्तार, २ फर्जी दबोचे

ब्ल्यूटूथ डिवाइस से नकल कर रहे चार परीक्षार्थी गिरफ्तार, २ फर्जी दबोचे

Vikas Choudhary | Publish: Sep, 16 2018 11:59:00 PM (IST) Jodhpur, Rajasthan, India

- एलडीसी भर्ती परीक्षा
- अण्डरवियर में छुपा रखे थे ब्ल्यूटूथ व कानों में थे सूक्ष्म कैप्सूल, बीकानेर से बताए जा रहे थे उत्तर
- एक परीक्षार्थी के पास मोबाइल भी बरामद
- एक महीने बाद परीक्षा का समापन, ५७ फीसदी ने दी परीक्षा


जोधपुर.
राजस्थान अधीनस्थ एवं मंत्रालयिक सेवा चयन बोर्ड (आरएसएमएसएसबी) की ओर से रविवार को आयोजितजूनियर असिस्टेंट/क्लर्क ग्रेड द्वितीय पद की लिखित परीक्षा के दौरान ब्ल्यूटूथ से नकल कराने वाली बीकानेर की एक गैंग के चार अभ्यर्थियों को महामंदिर थाना क्षेत्र से गिरफ्तार किया गया। इनसे ब्ल्यूटूथ डिवाइस, सूक्ष्म कैप्सूल, सिम, एक मोबाइल व बनियान जब्त किए गए हैं। आरोपियों ने अण्डरवियर में ब्ल्यूटूथ छुपा रखे थे। इनको नकल करवाने वाली बीकानेर गैंग के साथियों की तलाश की जा रही है। वहीं, एक युवती सहित दो फर्जी अभ्यर्थी भी गिरफ्तार किए गए हैं।
पुलिस उपायुक्त (पूर्व) डॉ अमनदीप सिंह कपूर के अनुसार ब्ल्यूटूथ डिवाइस से नकल कराने वाली गैंग के सक्रिय होने की सूचना पर मदेरणा कॉलोनी स्थित शिशु निकेतन स्कूल में तलाशी ली गई, जहां से बीकानेर के लालगढ़ में रामपुरा बस्ती निवासी सचिन पुत्र गोपालराम विश्नोई की जांच करने पर कान में ब्ल्यूटूथ डिवाइस मिला। बनियान में टेप से केबल चिपकी थी। वहीं, अण्डरवियर में ब्ल्यूटूथ लगा था।
इससे पूछताछ के बाद महामंदिर तीसरी पोल के पास लेडी एनी बिसेंट स्कूल से बीकानेर जिले में पांचू थानान्तर्गत जांगलू निवासी संजय विश्नोई पुत्र गंगाविशन, उसके चचेरे भाई सुरेश पुत्र रामस्वरूप विश्नोई व बिच्छवाल थाना क्षेत्र में इन्द्रा कॉलोनी निवासी विक्रम सिंह पुत्र हुकम सिंह को हिरासत में लिया गया। इनके कानों में भी ब्ल्यूटूथ डिवाइस व अण्डरवियर में ब्ल्यूटूथ छुपे थे। आरोपियों से बरामद डिवाइस में सिम भी लगी हुई मिली।
महामंदिर थानाधिकारी देवेन्द्र सिंह ने बताया कि ब्ल्यूटूथ डिवाइस से नकल करने के संबंध दो मामले दर्ज कर चारों को गिरफ्तार किया गया है। पूछताछ की जा रही है।
बीकानेर से बताए जा रहे थे प्रश्नों के उत्तर
एडीसीपी (पूर्व) अनंत कुमार ने बताया कि पकड़ में आए चारों अभ्यर्थी बीकानेर जिले के हैं। इनको मोबाइल के माध्यम से प्रश्नों के उत्तर बताए जा रहे थे। जो उत्तर बता रहे थे वो बीकानेर जिले में कहीं बैठे थे। इनके संबंध में पुलिस को कुछ सुराग लगे हैं। बीकानेर पुलिस की मदद से तलाश के प्रयास किए जा रहे हैं।
पांच लाख रुपए में परीक्षा पास करवाने की गारंटी
परीक्षा के नोडल अधिकारी व एडीसीपी (मुख्यालय) कैलाश सिंह सांदू ने बताया कि चारों आरोपियों से नकल कराने की जो सामग्री जब्त की गई है वो एक समान है। एेसे में यह किसी एक ही गैंग के सम्पर्क में थे। इनसे पांच लाख रुपए लेकर परीक्षा पास कराने की गारंटी ली गई थी।
मूल अभ्यर्थी की जगह परीक्षा देते युवती सहित दो गिरफ्तार
उप निरीक्षक कैलाश के अनुसार सुमेर स्कूल में परीक्षा के दौरान पर्यवेक्षक को एक अभ्यर्थी पर संदेह हुआ। प्रवेश पत्र पर लगी फोटो से उसके चेहरे का मिलान नहीं हो रहा था। इस पर बाड़मेर जिले में धोरीमन्ना क्षेत्र के किशनेरिया गांव निवासी जगदीश पुत्र सुखराम विश्नोई को गिरफ्तार किया गया। वह बाड़मेर के ही स्वरूप सिंह की जगह परीक्षा दे रहा था। इसी प्रकार, दोपहर दो से शाम पांच बजे वाली पारी में पाल रोड पर हनवंत स्कूल में मूल अभ्यर्थी की जगह परीक्षा दे रही निरमा को गिरफ्तार किया गया। वह सुनीता विश्नोई की जगह परीक्षा दे रही थी। शास्त्रीनगर थाना पुलिस ने मामला दर्ज कर निरमा को गिरफ्तार किया है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned