पांच हजार रिश्वत लेते ग्राम पंचायत का लिपिक गिरफ्तार

- मनरेगा में निर्मित टांके की किस्त जारी करने की एवज में मांगे थे छह हजार रुपए

By: Vikas Choudhary

Published: 01 Aug 2020, 04:00 AM IST

Jodhpur, Jodhpur, Rajasthan, India

जोधपुर.
मनरेगा योजना के तहत निर्मित टांके के लिए सरकारी किस्त जारी करने की एवज में ५ हजार रुपए रिश्वत लेते बाड़मेर के पाटोदी गांव में पांच हजार रुपए रिश्वत लेते ग्राम पंचायत के कनिष्ठ लिपिक को भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो की जोधपुर टीम ने शुक्रवार को रंगे हाथों गिरफ्तार किया।

ब्यूरो के उप महानिरीक्षक डॉ विष्णुकांत ने बताया कि बाड़मेर जिले के पाटोदी गांव में सांगरानाडी में मेकाणियों की ढाणी निवासी सांवलाराम पुत्र हुकमाराम के मनरेगा योजना के तहत टांका निर्माण के लिए सरकारी किस्त जारी करवानी है। इस कार्य के लिए उसने सांगरानाडी ग्राम पंचायत के कनिष्ठ लिपिक जबराराम भील से सम्पर्क किया तो उसने छह हजार रुपए रिश्वत मांगी। जिसकी शिकायत सांवलाराम ने एसीबी की जोधपुर शहर चौकी में शिकायत की।
गोपनीय सत्यापन कराए जाने पर आरोपी कनिष्ठ लिपिक जबराराम ने एक हजार रुपए ले लिए। शेष पांच हजार रुपए देने के लिए पीडि़त सांवलाराम शुक्रवार को पाटोदी गांव स्थित कनिष्ठ लिपिक के किराए के कमरे पहुंचा, जहां उसने लिपिक को पांच हजार रुपए दिए। तभी इशारा मिलते ही ब्यूरो के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक नरेन्द्र चौधरी, निरीक्षक मनीष वैष्णव ने दबिश दी और कनिष्ठ लिपिक जबराराम (३२) पुत्र झुंझाराम भील को रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया। आरोपी के पास सांगरानाडी के ग्राम सेवक का चार्ज भी है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned