पं राजस्थान की जलवायु-भौगोलिक परिस्थितियां मोटे अनाजों के लिए उपयुक्त

- कृषि विवि ने मनाया पोषण दिवस

By: Amit Dave

Published: 17 Sep 2021, 11:14 PM IST

जोधपुर।
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के 71 वें जन्मदिवस पर कृषि विश्वविद्यालय में अन्तर्राष्ट्रीय पोषक अनाज वर्ष 2023 के परिप्रेक्ष्य में पोषण वाटिका महाअभियान व पौधारोपण दिवस का आयोजन किया गया। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि कृषि विवि कुलपति प्रो बीआर चौधरी ने बताया कि आमजन को बाजरा, ज्वार, रागी आदि पारंपरिक खाद्यान्नों की ओर रुख करना चाहिए क्योंकि ये पश्चिमी राजस्थान की प्रमुख खाद्यान्न फ सलों के साथ पौषकता से परिपूर्ण है, जिससे कुपोषण को दूर किया जा सकता है। विशिष्ट अतिथि कृषि महाविद्यालय अधिष्ठाता डॉ सीताराम कुम्हार ने बताया कि पश्चिमी राजस्थान की भौगोलिक और जलवायु परिस्थितियां मोटे अनाज के उत्पादन के लिए सर्वाधिक उपयुक्त है। कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए अखिल भारतीय बाजरा अनुसंधान परियोजना की समन्वियका डॉ तारा सत्यवती ने बाजरा की पौष्टिक महत्वताओं और नवीन बाजारा उत्पादों के प्रति आमजन को जागरुक किए जाने की आवश्यकता बताई। इस अवसर पर कृषि महाविद्यालय के नवीन परिसर तथा कृषि अनुसंधान केन्द्र में पौधारोपण किया गया। कार्यक्रम में विशेष रूप से आमंत्रित 71 बालिकाओं को पोषणयुक्त मोटे उत्पादों का नाश्ता कराया गया।
--

Amit Dave Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned