scriptCommunity Wedding amid Covid-19 restriction in a unique way | Corona के बीच अनूठा सामूहिक विवाह, देखिए व्यवस्थाएं कैसे बनेगी मिसाल | Patrika News

Corona के बीच अनूठा सामूहिक विवाह, देखिए व्यवस्थाएं कैसे बनेगी मिसाल

Covid-19 के प्रतिबंधों के तहत जब एक शादी में 50 से ज्यादा लोग एकत्रित नहीं हो सकते तो सामूहिक विवाह के बारे में सोचा भी कैसे जा सकता है। लेकिन जोधपुर में मंगलवार को होने वाली Community Wedding एक अनूठी मिसाल पेश करने वाली है।

जोधपुर

Published: January 17, 2022 11:40:09 pm

जोधपुर। नारायण सेवा समिति मण्डोर व माली संस्थान जोधपुर के संयुक्त तत्वाधान में सातवां सामूहिक विवाह समारोह मंगलवार को होगा। कोरोनाकाल में हो रहा यह सामूहिक विवाह समारोह कई मायनों में अनूठा साबित होगा। कोविड गाइडलाइन के अनुरूप सात जोड़े पांच अलग अलग मैरिज गार्डन में जिंदगी का नया सफर शुरू करेंगे। इस दौरान एक तुलसी विवाह भी होगा। सभी पांचों विवाहस्थलों पर मात्र 50-50 अतिथि ही शामिल हो सकेंगे।
सामूहिक विवाह
Corona के बीच अनूठा सामूहिक विवाह, देखिए व्यवस्थाएं कैसे बनेगी मिसाल
समिति के मीडिया प्रभारी जगदीश देवड़ा व राकेश सांखला के अनुसार समिति अध्यक्ष मनोहरसिंह सांखला के नेतृत्व में होने वाले सामूहिक विवाह समारोह में कोरोना गाइड लाइन के अनुरूप सभी कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे। सामूहिक विवाह एस.बी.होटल, सूरजगढ़ प्रथम, सूरजगढ द्वितीय, संगम गार्डन व हरिओम गार्डन में अलग-अलग समयानुसार 50 अतिथियों की उपस्थिति में करवाया जाएगा।
अलग अलग टीमें करेंगी व्यवस्था

सामूहिक विवाह के लिए अलग अलग टीमें गठित की गई हैं। ये टीमें अलग अलग मैरिज गार्डन में व्य़वस्थाएं सम्भालेंगी। सभी टीमों में समाज के गणमान्य व मौजीज लोगों को शामिल किया गया है। महिलाओं की अलग टीम बनाई गई है।
जोड़े लेंगे अनूठे संकल्प

सामूहिक विवाह के दौरान परिणय सूत्र में बंधने वाले जोड़े आठ संकल्प लेंगे। इनमें बेटी पढ़ाओ-बेटी बचाओ, पर्यावरण संरक्षण-तुलसी/गिलोय पौधा वितरण, नशा मुक्ति धूम्रपान-गुटका निषेध, पॉलीथीन बहिष्कार-विवाह प्रांगण से दूरी, संस्कार संवद्र्धन-गीता पुस्तक वितरण, झूठन से तौबा-झूठा नहीं छोड़ेंगे और स्वच्छ भारत संकल्प-गली-घर की सफाई जैसे संकल्प शामिल हैं।
अभी लगी हैं कई पाबंदियां

कोरोनाकाल में विवाह समारोह को लेकर राज्य सरकार की गाइडलाइन में कई पाबंदियां लगाई गई हैं। इनमें किसी भी विवाह समारोह में नगर पालिका क्षेत्र में 50 व अन्य क्षेत्रों में 100 से अधिक लोग शामिल नहीं हो सकते। ऐसे में कईलोगों ने शहरी क्षेत्र के बाहर भी शादियां के आयोजन शिफ्ट किए हैं।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

नाइजीरिया के चर्च में कार्यक्रम के दौरान मची भगदड़ से 31 की मौत, कई घायल, मृतकों में ज्यादातर बच्चे शामिल'पीएम मोदी ने बनाया भारत को मजबूत, जवाहरलाल नेहरू से उनकी नहीं की जा सकती तुलना'- कर्नाटक के सीएम बसवराज बोम्मईमहाराष्ट्र में Omicron के B.A.4 वेरिएंट के 5 और B.A.5 के 3 मामले आए सामने, अलर्ट जारीAsia Cup Hockey 2022: सुपर 4 राउंड के अपने पहले मैच में भारत ने जापान को 2-1 से हरायाRBI की रिपोर्ट का दावा - 'आपके पास मौजूद कैश हो सकता है नकली'कुत्ता घुमाने वाले IAS दम्पती के बचाव में उतरीं मेनका गांधी, ट्रांसफर पर नाराजगी जताईDGCA ने इंडिगो पर लगाया 5 लाख रुपए का जुर्माना, विकलांग बच्चे को प्लेन में चढ़ने से रोका थापंजाबः राज्यसभा चुनाव के लिए AAP के प्रत्याशियों की घोषणा, दोनों को मिल चुका पद्म श्री अवार्ड
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.