कोरोना अलर्ट : अब सेना की परेड में कैडेट्स के स्वास्थ्य की होगी नियमित जांच

कोरोना वायरस के चलते भारतीय सेना की दो बटालियन की टुकडिय़ों ने राजस्थान के जोधपुर व जैसलमेर क्षेत्र से अपने रहवासीय स्थानों को खाली किया है। भारतीय सेना क्वारंटाइन सुविधाओं के लिए प्रतिबद्ध होने के साथ ही कोरोना वायरस की रोकथाम के लिए प्रयासरत है।

By: Harshwardhan bhati

Updated: 19 Mar 2020, 05:10 PM IST

जोधपुर. कोरोना वायरस के चलते भारतीय सेना की दो बटालियन की टुकडिय़ों ने राजस्थान के जोधपुर व जैसलमेर क्षेत्र से अपने रहवासीय स्थानों को खाली किया है। भारतीय सेना क्वारंटाइन सुविधाओं के लिए प्रतिबद्ध होने के साथ ही कोरोना वायरस की रोकथाम के लिए प्रयासरत है। सेना की ओर से मानेसर सहित जैसलमेर व जोधपुर में कुल 1600 लोगों के लिए क्वारंटाइन सुविधाएं विकसित की हैं। दिल्ली स्थित सेना के हैडक्वार्टर में कार्यरत सेना के एक उच्चाधिकारी ने बताया कि संदिग्धों के लिए इन केंद्रों पर सभी प्रकार की सुविधाओं का ध्यान रखा गया है। इन केंद्रों में रुकने वालों के लिए रहवासीय व खानपान संबंधी सुविधाएं, आउटडोर व इनडोर खेल सुविधाएं, मनोरंजन सहित धार्मिक गतिविधियों को पूरा करने की सभी सुविधाएं मुहैया करवाई जा रही हैं।

उन्होंने बताया कि मानेसर स्थित केंद्र में अबतक 372 विस्थापितों का उपचार किया जा चुका है और 82 लोगों का अभी भी उपचार किया जा रहा है। इसी तरह जैसलमेर में बनाए गए आइसोलेन कैंप में ईरान से आए सभी यात्रियों की जांच सहित उनकी सुविधाओं का ध्यान रखा जा रहा है। खड़कवासला स्थित एनडीए केंद्र में अधिकारियों व कैडेट्स को मेडिकल टीम की ओर से सेनिटाइज करने के साथ ही कोरोना वायरस के प्रति जागरूक किया गया है। कैडेट्स को आयोजनों आदि में शामिल न होने की हिदायत दी गई है। सभी प्रकार के एजुकेशनल टूर व आउटडोर हाइक्स आदि को बंद किया गया है। साथ ही कैडेट्स की परेड के दौरान नियमित जांच की जाएगी। सेना में संदिग्ध पाए गए जवानों की जानकारी भी साझा नहीं किए जाने के आदेश जारी हुए हैं।

coronavirus
Harshwardhan bhati
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned