नहीं हो सका सेतरावा पंचायत समिति के प्रारूप का प्रकाशन, विधायक को ठहराया जिम्मेदार

नहीं हो सका सेतरावा पंचायत समिति के प्रारूप का प्रकाशन, विधायक को ठहराया जिम्मेदार
नहीं हो सका सेतरावा पंचायत समिति के प्रारूप का प्रकाशन

Pawan Kumar Pareek | Updated: 06 Oct 2019, 09:46:46 AM (IST) Jodhpur, Jodhpur, Rajasthan, India

सेतरावा का पंचायत समिति प्रस्ताव का प्रारूप प्रकाशन एनवक्त पर रोक देने से नाराज क्षेत्रवासियों ने शुक्रवार को लोहावट विधायक किशनाराम विश्नोई के समक्ष रोष जताया।

सेतरावा (जोधपुर). सेतरावा का पंचायत समिति प्रस्ताव का प्रारूप प्रकाशन एनवक्त पर रोक देने से नाराज क्षेत्रवासियों ने शुक्रवार को लोहावट विधायक किशनाराम विश्नोई के समक्ष रोष जताया। लोगों प्रस्ताव रुकवाने के लिए विधायक की ओर से लिखा पत्र उन्हीं को दिखाते हुए इसके लिए विश्नोई को ही जिम्मेदार ठहराया।

राजीव गांधी सेवा केन्द्र में शनिवार को पूर्व प्रधान कल्याणसिंह राठौड़ की मौजूदगी में हुई बैठक में सेतरावा, जेठानिया, चौरडिय़ा, जैतसर, वीरमदेवगढ़, खियांसरिया, आसरलाई, बुड़किया, कलाऊ, कनोडिया पुरोहितान गांवों के लोग और कांग्रेस कार्यकर्ता भी मौजूद थे। बैठक में सेतरावा पंचायत समिति बनाने को लेकर अब तक हुई कार्यवाही का ब्यौरा दिया और प्रस्ताव के प्रारूप प्रकाशन नहीं होने के मुख्य कारणों पर चर्चा की गई।

बैठक में लोहावट विधायक किशनाराम विश्नोई को भी आमंत्रित किया गया था। विश्नोई के समक्ष पूर्व प्रधान राठौड़ ने सेतरावा पंचायत समिति का प्रारूप प्रकाशन नहीं होने पर नाराजगी जाहिर की और कहा कि क्षेत्रवासी पिछले 15 सालों से पंचायत समिति की मांग कर रहे हैं लेकिन हर बार उपेक्षा हो रही है। इस बार लोहावट विधायक से आशा थी, लेकिन फिर भी बने बनाए समिति के प्रस्ताव को एन मौके पर रोका गया है, जिससे लोगों में रोष है।

सरपंच गोपालसिंह राठौड़ ने कहा कि विधायक ने हमें आश्वासन दिया था कि सेतरावा को समिति बना दिया जाएगा। विधायक ने गत 28 अगस्त को समिति बनाने की जिला कलक्टर के नाम डिजायर ग्रामीणों को सौंपी थी, इस पर शेरगढ़ व लोहावट दोनों विधायकों की डिजायर व प्रस्ताव जिला कलक्टर को सौंपा गया था। एक दिन बाद 29 अगस्त को लोहावट विधायक ने आऊ के अलावा अन्य कोई नई पंचायत समिति प्रस्तावित नहीं करने का पत्र कलक्टर को दिया।

पंचायती राज विभाग का आदेश हुआ दरकिनार

सरपंच राठौड़ ने बताया कि गत 27 सितम्बर को पंचायत राज विभाग से जिला कलक्टर को पत्र भेजा गया था। इसमें सेतरावा को पंचायत समिति के रूप में प्रकाशन करने का प्रस्ताव था। कलक्टर के आदेश पर उपखण्ड अधिकारी शेरगढ़ द्वारा सेतरावा पंचायत समिति का प्रस्ताव प्रारूप प्रकाशन के लिए जिला कलक्टर को भेज दिया गया।

इसके बाद लोहावट विधायक ने गत 29 सितम्बर को इस आदेश के संबंध में सीधे जयपुर पंचायती राज विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव को पत्र भेजकर 30 सितम्बर को होने वाले प्रारूप प्रकाशन में नई समिति प्रकाशन शून्य लिखकर रोड़ा अटका दिया। फलस्वरूप सेतरावा पंचायत समिति का प्रस्ताव प्रकाशन से वंचित कर दिया गया। पंचायत समिति सदस्य के पूर्व सदस्य व कांग्रेस नेता अनोपचंद लोढ़ा ने कहा कि हमारी मांग को अनसुना किया जा रहा है।

इन्होंने कहा

एक बार और समिति के लिए प्रयास करूंगा। आपकी बात ऊपर तक पहुंचाऊंगा।

किशनाराम विश्नोई, विधायक, लोहावट विधानसभा क्षेत्र

Show More

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned