शिकायतों के बाद भी ग्रामीणों को नहीं मिल रहा मीठा पानी

देणोक. कस्बे में पिछले काफी समय से हो रही लवणीय पानी की जलापूर्ति से नाराज ग्रामीण पिछले दो दशक से अधिक समय से विभागीय अधिकारियों एवं जनप्रतिनिधियों के समक्ष गुहार लगा रहे है।

By: Manish Panwar

Published: 14 Dec 2019, 11:14 PM IST

देणोक. कस्बे में पिछले काफी समय से हो रही लवणीय पानी की जलापूर्ति से नाराज ग्रामीण पिछले दो दशक से अधिक समय से विभागीय अधिकारियों एवं जनप्रतिनिधियों के समक्ष गुहार लगा रहे है। लेकिन, कोई इनकी पीड़ा को सुनने के लिए तैयार नहीं। कस्बे के भाजपा जिला प्रतिनिधि आन्नद सिंह चम्पावत, बहादुर सिंह, सत्तार खां, लालचन्द वैद व मूलसिंह चम्पावत सहित दर्जनों युवाओं की टीमें जल संसाधन मंत्री व मुख्यमंत्री को राजस्थान पोर्टल, सांसद जनसुनवाई, मंत्री जनसुनवाई, प्रशासन आपके द्वारा कार्यक्रम में ग्रामीण शिकायतें कर चुके है। लेकिन ग्रामीणों को फ्लोराइड युक्त पानी से निजात नहीं मिल पाया। आलम है कि फ्लोराइड युक्त पानी पीने से ग्रामीणों के पेट में गैस, पत्थरी, घुटनों में दर्द, कमर का टेढ़ा मुडऩा जैसी बीमारियों का शिकार होना पड़ रहा है। ग्रामीणों ने मीठे पानी की जलापूर्ति बहाल करवाने की मांग की।

कस्बे में पानी का बड़ा जीएलआर:-रिड़मलसर-चाम्पासर परियोजना के तहत वन विभाग भूमि में पिछले एक दशक से अधिक समय से इन्दिरा गांधी नहर के पानी का प्रेशर के लिए बड़े जीएलआर का निर्माण किया हुआ। उक्त जीएलआर से दूसरे गांवों की जलापूर्ति होती है लेकिन कस्बे की आपूर्ति नहीं होने से ग्रामीणों में रोष है। निस.

Manish Panwar Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned