कोविड के कारण एक महीना नहीं पढ़ी, फिर भी सलोनी की देश में 32 वीं रैंक

ICAI Results

- सीए फाइनल और फाउण्डेशन का परिणाम घोषित, छात्राओं ने बाजी मारी

By: Gajendrasingh Dahiya

Published: 13 Sep 2021, 07:54 PM IST

Jodhpur, Jodhpur, Rajasthan, India

जोधपुर. दी इंस्टीट्यूट ऑफ चार्टर्ड एकाउंटेंट ऑफ इंडिया (आईसीएआई) ने सोमवार को चार्टर्ड एकाउंटेंट (सीए) फाइनल ईयर और फाउंडेशन परीक्षा का परिणाम जारी कर दिया। सीए फाइनल ईयर में जोधपुर की सलोनी मित्तल ने देश में 32वीं रैंक हासिल की। कोविड-19 की दूसरी लहर में सलोनी के पूरे परिवार को कोरोना हो गया। इस दौरान उनकी दादी का भी देहांत हो गया। एक महीने तक पढ़ाई से दूर रहने के बावजूद सलोनी ने वरीयता सूची में स्थान प्राप्त किया।
उसने 800 में से 553 अंक हासिल किए। सलोनी ने सीए इंटरमीडिएट (आईपीसीसी) में भी 10वीं रैंक हासिल की थी। सलोनी ने कहा कि उसने पास होने के लिए नहीं, रैंक हासिल करने के लिए पढ़ाई की थी। केवल पास होने के लिए पढ़ाई करने पर आप एक गोल पर अटक जाते हैं और नेक्सट गोल पर पहुंच नहीं पाते। सलोनी ने आर्टिकलशिप जयपुर से की। अब वह जॉब करना चाहती है। सलोनी के पिता संजीव मित्तल जोधपुर डिस्कॉम में सिविल इंजीनियर व माता सावी गृहिणी है।

7774 नए सीए बने, केवल 12 प्रतिशत रिजल्ट

आईसीएआई ने जुलाई में परीक्षा करवाई थी। इसके सोमवार को घोषित परिणाम में देश को 7774 नए सीए मिले हैं। सीए अंतिम वर्ष (न्यू स्कीम) का परिणाम लगभग 12 प्रतिशत रहा। प्रथम ग्रुप में बैठने वाले 49,358 में से 9986 परीक्षार्थी पास हुए यानी 20.23 फीसदी परिणाम रहा। दूसरे ग्रुप में 42, 203 में से 7328 यानी 17.36 फ़ीसदी पास हुए। दोनों समूह की परीक्षा देने वाले 23,981 अभ्यर्थियों में से 2870 (12 प्रतिशत) पास हुए।

फाउंडेशन में 26 फ़ीसदी छात्र, 27 फ़ीसदी छात्राएं पास
सीए फाउंडेशन का परिणाम 26.62 फीसदी रहा। इसमें 26.08 फ़ीसदी छात्र और 27.26 फीसदी छात्राएं उत्तीर्ण हुई। फाउंडेशन परीक्षा में देश भर में 71,967 परीक्षार्थी बैठे। इसमें 38,917 छात्र और 33,050 छात्राएं शामिल थी। कुल 19,158 विद्यार्थी पास हुए।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned