इन्दावटी क्षेत्र की लाइफ लाइन साबित हो सकता है गोतावर बांध

इन्दावटी को आखिर कब मिलेगी 'गोतावर बांधÓ की सौगात

By: Om Prakash Tailor

Published: 13 Nov 2020, 05:46 PM IST

बेलवा . इन्दावटी क्षेत्र के छीतर पहाडिय़ों में प्रस्तावित गोतावर बांध की मांग पिछले कई दशकों से कर रहे है। गोतावर डेम पीएम नरेन्द्र मोदी के जल जीवन मिशन से शेरगढ की महत्वाकांक्षी गोतावर बांध परियोजना से क्षेत्र को लाभान्वित किया जा सकता है।उल्लेखनीय है कि गोतावर विकास कमेटी की पहल पर इन्दावटी क्षेत्र के लोग विगत वर्षों से गोतावर बांध योजना की मांग कर रहे है। केंद्रीय जल शक्ति मंत्री शेखावत के प्रयासों से जल शक्ति मंत्रालय द्वारा भौतिक टेक्निकल सर्वे का कार्य हुआ है।
आपको बता दें जोधपुर सांसद गजेन्द्रसिंह शेखावत के केंद्रीय जल शक्ति मंत्री बनने के साथ ही इन्दावटी क्षेत्र की छीतर की पहाडिय़ों में बांध निर्माण की प्रबल उम्मीद जगी है। ग्रामीण गोतावर नदी के पानी को रोककर बांध बनाने की अरसे से मांग कर रहे हैं। जल शक्ति मंत्रालय की टीम द्वारा गोतावर नदी में मिलने वाले नालों, जल भराव, ढलान सहित जल संरक्षण की संभावनाओं का पहले आकलन कर लिया गया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जल जीवन के तहत गोतावर डेम महत्वपूर्ण प्रस्ताव साबित हो सकता है। क्योंकि कटोरेनुमा पहाडिय़ों के बीच जल संरक्षण करना पूरे शेरगढ़ विधानसभा क्षेत्र के लिए वरदान साबित होगा।

10 वर्ग किलोमीटर में है प्रस्तावित

करीब 2100 बीघा क्षेत्र में गोतावर बांध का निर्माण जल संरक्षण के साथ शेरगढ़ के विकास व समृद्घि में अहम साबित होगा। यहां पर्यटन क्षेत्र भी विकसित किया जा सकता है। करीब 10 वर्ग किलोमीटर क्षेत्र के फैलाव में इस बांध के निर्माण से जिलेभर में पेयजल किल्लत से निजात मिल सकेगी। गोतावर नदी के रूप में बहकर लूणी नदी में जाने वाले जल को संरक्षित कर क्षेत्र की पेयजल व सिंचाई समस्याओं से निजात मिल सकेगी।

जल शक्ति मंत्रालय का प्रस्ताव

सूत्रों के अनुसार केंद्रीय जल शक्ति मंत्रालय द्वारा इन्दावटी के गोतावर डेम के प्रस्ताव को मंजूरी के लिए भेज दिया गया है। वहीं बांध के लिए 20 करोड़ की राशि के स्वीकृत होने की भी सूचना मिल रही है हालांकि जल शक्ति मंत्रालय या केंद्रीय मंत्री द्वारा इसकी पुष्टि नही की गई है। गोतावर विकास कमेटी व इन्दावटी राणोसा प्रतापसिंह इन्दा द्वारा गोतावर बांध को लेकर केंद्रीय जल शक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत, मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, शेरगढ़ विधायक मीनाकंवर राठौड़ के साथ कई जनप्रतिनिधियों को बांध निर्माण को लेकर पत्र प्रेषित कर चुके है। पूर्व शेरगढ़ विधायक बाबुसिंह राठौड़ ने भी गोतावर बांध से जल संरक्षण को लेकर राजस्थान विधानसभा में मुद्दा उठाया था।
गोतावर बांध : एक नजर

बांध क्षेत्र - 2100 बीघा

जल भराव क्षमता (मिलियन) - 4.15 घनफीट

इनको मिलेगा लाभ

ग्राम पंचायतें - 23

राजस्व गांव -118

जनसंख्या -106955

पशुधन -167048

ट्यूबवैल -1893

हैंडपम्प -1564

कुएं -673

कृषि भूमि -69186 बीघा

Om Prakash Tailor
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned