गिरफ्तारी के डर से क्लिनिक छोड़ भागा नीमहकीम

गिरफ्तारी के डर से क्लिनिक छोड़ भागा नीमहकीम

Pawan Kumar Pareek | Updated: 14 Jul 2019, 11:03:39 AM (IST) Jodhpur, Jodhpur, Rajasthan, India

देचू रोडवेज बुकिंग के पीछे कई सालों से बैठा झोलाछाप चिकित्सक पकड़े जाने के डर से क्लिनिक छोडकऱ भाग गया।

देचू (जोधपुर). राजमार्ग 125 व मेगा हाइवे मुख्य बाजार देचू रोडवेज बुकिंग के पीछे कई सालों से जमे बैठा झोलाछाप चिकित्सक पकड़े जाने के डर से क्लिनिक छोडकऱ भाग गया।

 

झोलाछाप विजय मजूमदार के खिलाफ लम्बे समय से चिकित्सा विभाग के पास भ्रूण परीक्षण की शिकायत मिल रही थी। नीम हकीम के क्लिनिक पर दो महिलाओं एवं युवक को बोगस मरीज बनाकर भेजा था। नीम हकीम कुछ समय से परीक्षण करने के लिए ना नुकुर रहा था। झोलाछाप ने जांच आर्यन अस्पताल जोधपुर में चिकित्सक हनुमान नाम व मोबाइल नम्बर लिख कर वहां पहुंचकर बात करवाने को कहा। झोलाछाप चिकित्सक इस स्टिंग की जानकारी की भनक लगी तो क्लीनिक बंद करके भाग गया।

 

तीन माह पूर्व जिला कलक्टर की रात्रि चौपाल सगरा में नीम हकीमों की ग्रामीणों ने शिकायत की थी। करीब दस साल पूर्व सीएम तक शिकायत जाने पर विजय मजूमदार व एक अन्य झोलाछाप को एसडीएम ने गिरफ्तार किया था। ग्रामीण चांदसमा, कुशलावा, मंडला कला, ऊंटवालिया, कनोडिया, सेतरावा सहित दर्जनों गांवों में बिना डिग्री नीम हकीम इलाज कर रहे हैं।

 

इन्होंने कहा

नीम हकीमों के खिलाफ एसडीएम साहब की टीम बनाकर शीघ्र कार्रवाई की जाएगी। पूर्व में हमने कार्रवाई की थी। जोगेश्वर गर्ग बीसीएमओ, शेरगढ़।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned