वीडियो: मरीज को पकड़ा दी एक्सपायरी दवा फिर हुआ ऐसा

Arvind Singh Rajpurohit

Updated: 20 Jun 2019, 09:18:27 PM (IST)

Jodhpur, Jodhpur, Rajasthan, India

 

जोधपुर. कमला नेहरु नगर स्थित कर्मचारी राज्य बीमा निगम अस्पताल के अधीन औषधालय संख्या 4 में बुधवार को एक मरीज को दवा काउंटर के कर्मचारियों ने अवधि पार (एक्सपायर) दवा पकड़ा दी। परिजन को गुरुवार को पता चला तो अस्पताल आकर विरोध दर्ज करवाया।

प्रतापनगर निवासी प्रवीण व्यास अपनी बीमार बेटी को दिखाने डिस्पेंसरी पहुंचे थे। यहां चिकित्सक ने कुछ दवाएं लिखी। वह दवा काउंटर पर पहुंचे तो कर्मचारी ने बिना जांच किए दवाई पकड़ा दी। प्रवीण ने घर पहुंच कर दवाई की जांच की तो अवधिपार होने का पता चला। व्यास ने आरोप लगाया कि डिस्पेंसरी कार्मिकों की लापरवाही के चलते उन्हें एक्सपायर दवा दे दी गई थी।

इस डिस्पेंसरी में कारखानों के श्रमिक आते हैं। इनमें से कई ऐसे हैं जो अंग्रेजी नहीं पढ़ सकते। ऐसे में डिस्पेंसरी कर्मचारियों की ऐसी लापरवाही भारी पड़ सकती है।

स्टॉक खत्म हो गया तो दवा कहां से आई?

एक्सपायर दवाई क्यों दी? इस सवाल पर अस्पताल में दवाई बांटने वाले कर्मचारी ने बताया कि अस्पताल में एक्सपायर दवा कहां से आई यह उसे पता नहीं क्योंकि वह कुछ दिन से अवकाश पर था। जो दवाई मरीज को दी गई उसका स्टॉक दस जून को ही खत्म हो गया था। इसके बावजूद न तो कर्मचारियों ने, ना ही स्टोर इंचार्ज ने हालात जानने की कोशिश की। डिस्पेंसरी प्रभारी भी अवकाश पर हैं। बड़ा सवाल यह है कि स्टॉक खत्म हो गया था तो एक्सपायर दवा काउंटर पर पहुंची कैसे?

दवा काउंटर कर्मचारी को पाबंद करेंगे

‘ऐसी घटनाओं की पुनरावृति न हो इसके लिए दवा काउंटर कर्मचारियों को पाबंद किया गया है। भविष्य में इस तरह की घटना सामने आने पर जो भी जिम्मेदार होगा उस पर नियमानुसार सख्त कार्रवाई की जाएगी।

मो. शाकिर कुरैशी, अधीक्षक, कर्मचारी राज्य बीमा निगम अस्पताल

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned