निर्यातकों को राहत, अटके हुए रिफण्ड मिलेंगे


- केन्द्र सरकार ने 56 हजार करोड़ का फण्ड़ किया जारी

By: Amit Dave

Updated: 10 Sep 2021, 11:05 PM IST

जोधपुर।
केन्द्र सरकार ने देश के निर्यातकों को राहत देते हुए विभिन्न निर्यात प्रोत्साहन योजनाओं के लिए 56027 करोड़ रुपयों का फण्ड घोषित किया है। सरकार के इस कदम से एमईआईएस स्कीम सहित विभिन्न निर्यात प्रोत्साहन योजनाओं में निर्यातकों के अटके रिफण्ड, इन्सेंटिव आदि का भुगतान हो सकेगा। सरकार के इस फण्ड जारी करने से निर्यातकों को निर्यात में आ रही बाधाएं दूर होने की उम्मीद जगी है।
---
कोरोना से टूट गई निर्यात उद्योग की कमर
वैश्विक महामारी कोरोना के कारण निर्यात उद्योग की कमर टूट गई। वहीं बाद में स्थितियां सुधरने पर कंटेनरों की भारी कमी व शिपिंग किराए में बढ़ोतरी ने देश सहित जोधपुर के निर्यात उद्योग को हिलाकर रख दिया। हाल यह है कि वर्तमान में निर्यातकों को कंटेनर उपलब्ध नहीं हो पा रहे है। शिपिंग कंपनियों ने शिपिंग किराया बढ़ा दिया, जो निर्यातकों के लिए वहन करना भारी पड़ रहा है। जोधपुर हैण्डीक्राफ्ट निर्यातकों को पर्याप्त कंटेनर बुकिंग नहीं मिल रही है। भाड़ा चार गुना बढ़ जाने से निर्यात व्यवसाय को भारी नुक सान उठाना पड़ रहा है।
---
जोधपुर का हैण्डीक्राफ्ट निर्यात उद्योग संकट में है। कंटेनर मिल नहीं रहे, शिपिंग किराया बढ़ गया है। ऐसे में सरकार की आरे से जारी फण्ड हैण्डीक्राफ्ट निर्यात उद्योग के लिए संजीवनी का कम करेगा। उम्मीद है स्थितियां जल्द सामान्य हो जाए, ताकि निर्यात उद्योग पटरी पर आ सके।
राधेश्याम रंगा, वरिष्ठ हैण्डीक्राफ्ट निर्यातक
-----

Amit Dave Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned