भगत की कोठी से चिंता शुरू, वाया मुनाबाव कराची तक फिक्र

भगत की कोठी से चिंता शुरू, वाया मुनाबाव कराची तक फिक्र

Jitendra Singh Rajpurohit | Updated: 10 Aug 2019, 02:36:22 AM (IST) Jodhpur, Jodhpur, Rajasthan, India

- दिनभर रहा संशय, आज मुनाबाव के आगे भी आशंका बरकरार
- देर रात 1 बजे 165 यात्रियों को लेकर जोधपुर के भगत की कोठी स्टेशन से रवाना हुई थार एक्सप्रेस

- रद्द होने के डर से महिला की तबीयत बिगड़ी

जोधपुर. जम्मू-कश्मीर में अनुच्छेद 370 को निष्प्रभावी करने से बोखलाए पाकिस्तान द्वारा शुक्रवार को थार लिंक एक्सप्रेस रद्द करने के एेलान के बाद भारत से पाक जाने वाले यात्री आशंकित नजर आए। यात्रियों को ट्रेन के रद्द होने का डर इतना सताया कि एक महिला की तबीयत बिगड़ गई। महिला को एक निजी अस्पताल में भर्ती करवाना पड़ा। प्राथमिक उपचार के बाद महिला परिवार संग दिनभर रेलवे स्टेशन पर ट्रेन के इंतजार में बैठी रही।
दिनभर संशय के बाद शुक्रवार देर रात 12.50 बजे भगत की कोठी स्टेशन से 165 यात्रियों को लेकर थार एक्सप्रेस रवाना हुई। इसमें 81 भारतीय और 84 पाकिस्तानी नागरिक शामिल हैं। इनके अलावा चार बच्चे भी हैं। जोधपुर के भगत की कोठी रेलवे स्टेशन से यह ट्रेन रवाना होती है। थार एक्सप्रेस में गुरुवार शाम तक महज 42 यात्रियों ने ही बुकिंग करवाई थी। जबकि गत 3 अगस्त को पिछले फेरे में इस ट्रेन में 137 भारतीय और 128 पाक नागरिक पाकिस्तान गए थे। वहीं 4 अगस्त को 137 भारतीय और 232 पाक नागरिक भारत आए थे। यात्रियों में पाकिस्तान द्वारा थार लिंक एक्सप्रेस ट्रेन रद्द करने को लेकर आक्रोश था। यात्रियों ने कहा कि दोनों देशों में विवाद चलते रहते हैं लेकिन ट्रेनों को रोकने से दोनों देश के लोग रिश्तेदारों से नहीं मिल पाएंगे। यात्रियों ने भारत सरकार के जम्मू कश्मीर में अनुच्छेद 370 को निष्प्रभावी करने पर खुशी जताई।

महिला की तबीयत बिगड़ी

अहमदाबाद निवासी मोहम्मद रफीक (52) की पुत्री पाकिस्तान के कराची में रहती है। उसकी पुत्री के कुछ दिन पहले पुत्र होने पर रफीक पत्नी रोशन बेबी के साथ थार एक्सप्रेस में जाने के लिए शुक्रवार सुबह जोधपुर के भगत की कोठी रेलवे स्टेशन पहुंचे। जहां पाक द्वारा ट्रेन को रद्द करने की सूचना सुन रोशन बेबी की तबीयत बिगड़ गई। निजी अस्पताल में इलाज के बाद रोशन को पुन: रेलवे स्टेशन लाया गया। रोशन ने बताया कि करीब पांच साल बाद वह अपनी बेटी से मिलने जा रहे हैं।

पत्नी से मिलने जाना पड़ता है कराची
बाड़मेर में रहने वाले सैयद मीठनशाह की गत वर्ष पाकिस्तान में शादी हुई थी। पत्नी को वीजा नहीं मिलने पर सैयद करीब पांच माह बाद पत्नी से मिलने पाकिस्तान जा रहा है। इस बार पत्नी का वीजा बनाकर उसे लाने के लिए कराची जाना है। लेकिन अब कराची जाने के बाद वापस लौटने की चिंता सता रही है।

मायरा भरने जा रहे, चिंता सता रही वापस आने की
मध्यप्रदेश के मंदसौर में रहने वाले अब्दुल गफ्फार (70) ने बताया कि दोहिते की 19 अगस्त को कराची में शादी है। मायरा भरने के लिए पाकिस्तान जा रहे हैं। परिवार के साथ शुक्रवार को जोधपुर पहुंचे। पाकिस्तान के ट्रेन रोकने की बात सुनकर पत्नी का रो-रो कर बुरा हाल हो गया। परिवार को शादी में जाने और वापस लौटने की चिंता सता रही है।

82 वर्षीय नानी को देखनी है दोहिती की शादी

गुजरात के कच्छ में रहने वाले अयूब कासिम ने बताया कि उसकी भांजी की शादी 18 अगस्त को पाकिस्तान में होगी। उसकी नानी मरीयम (82) को दोहिती की शादी देखनी है। वे परिवार के साथ जा रही हैं। लेकिन ट्रेनों के रद्द होने की आशंका पर वृद्ध नानी के सफर की चिंंता सता रही है।

-------
दिनभर आशंकित, रात को रवाना हुई थार

ट्रेन के संचालन को लेकर दिनभर संशय बना रहा। हालांकि रेलवे की ओर से यही कहा जाता रहा कि उनको रेल मंत्रालय व रेलवे बोर्ड की ओर से ट्रेन को रद्द करने के लिए कोई निर्देश नहीं मिले हैं इसलिए ट्रेन अपने निर्धारित शेड्यूल के अनुसार चलेगी।

अगस्त तक चलती है भारत की थार
थार एक्सप्रेस के संचालन के करार के अनुसार 6 माह तक भारत की गाड़ी तथा अन्य छह माह के लिए पाकिस्तान की थार फेरे करती है। इसी करार के तहत मार्च से अगस्त तक भारत की थार एक्सप्रेस फेरे करती है। करार के अनुसार अगले माह यानी सितंबर से फरवरी तक पाकिस्तान की थार एक्सप्रेस चलती है।

मुनाबाव से आगे संशय बरकरार
पाकिस्तान के रेल मंत्री ने कहा कि पाक से थार एक्सप्रेस का संचालन नहीं होगा। एेसे में अब यह संशय बना हुआ है कि पाकिस्तान शनिवार को थार एक्सप्रेस को अपनी सीमा में प्रवेश करने देगा या नहीं। संचालन के करार के मुताबिक मुनाबाव से पाकिस्तान के जीरो पॉइंट पर बने प्लेटफार्म तक थार को भारतीय रेलवे चालक और गार्ड द्वारा लेकर जाने पर अभी तक स्थिति स्पष्ट नहीं है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned