scriptHelpless 'Agniveer' in this university for 15 years | Agnipath: इस विश्वविद्यालय में 15 साल से असहाय 'अग्निवीर' | Patrika News

Agnipath: इस विश्वविद्यालय में 15 साल से असहाय 'अग्निवीर'

- प्रदेश का एकमात्र रक्षा केंद्र, ब्रिगेडियर से लेकर हवलदार तक पढ़ चुके हैं यहां

जोधपुर

Updated: June 24, 2022 09:59:03 pm

जोधपुर. जयनारायण व्यास विश्वविद्यालय में बीते डेढ़ दशक ने डिफेंस स्टडी सेंटर संचालित हो रहा है, जहां से ब्रिगेडियर से लेकर हवलदार तक कोर्स करके सेना में सेवाएं दे रहे हैं लेकिन विवि की ओर से अभी तक इसे न तो विभाग का दर्जा दिया गया हैऔर न ही शिक्षकों की भर्ती की गई है। विवि में डिफेंस स्टडी पढ़ाने के लिए एक भी शिक्षक नहीं है। गेस्ट फैकल्टी और आर्मी के ऑफिसर्स यहां कक्षाएं लेते हैं। और तो और बीते सप्ताह विवि ने अब इसे कला संकाय से सीधा हटाकर राजनीति विज्ञान में सम्बद्ध कर दिया है।
Agnipath: इस विश्वविद्यालय में 15 साल से असहाय 'अग्निवीर'
Agnipath: इस विश्वविद्यालय में 15 साल से असहाय 'अग्निवीर'

विवि ने वर्ष 2007 में डिफेंस स्टडी सेंटर की स्थापना की गई थी। वर्तमान में मिलिट्री साइंस स्नातक विषय (बीए) में पढ़ाई जाती है और स्नातकोत्तर में एमए होती है। मिलिट्री साइंस व डिजास्टर मैनेजमेंट में पीजी डिप्लोमा भी उपलब्ध है। प्रत्येक में न्यूनतम दस सीटें हैं लेकिन वर्तमान में तीनों पाठ्यक्रमों में प्रत्येक में 15 से 20 विद्यार्थी अध्यनरत है। करीब 90 विद्यार्थी पढ़ाई कर रहे हैं। मिलिट्री साइंस में रक्षा मामलों से संबंधित सभी तरह की पढ़ाई होती है। इसमें सेना के तीनों अंग, सेना की कार्यप्रणाली, उसका योगदान, वर्तमान परिपेक्ष्य में भारतीय सेना का महत्व, विदेशी सेनाएं, सेना का इतिहास, सेना भर्ती और हथियार जैसे विषय पाठ्यक्रम में शामिल है। वर्तमान में सेना में काम कर रहे कई अधिकारी और जवान पदोन्नति के लिए जेएनवीयू से पीजी अथवा पीजी डिप्लोमा करते हैं।
प्रदेश का एकमात्र स्टडी सेंटर
जेएनवीयू में डिफेंस स्टडी सेंटर प्रदेश का एकमात्र ऐसा स्टडी सेंटर है। किसी भी विवि में मिलिट्री साइंस की पढ़ाई नहीं होता है। पड़ौसी राज्यों उत्तरप्रदेश, मध्यप्रदेश, पंजाब, हरियाणा व महाराष्ट्र में कई स्थानों पर डिफेंस स्टडी सेंटर है। जेएनवीयू में यह स्ववित्त पोषित आधार पर संचालित है। इसे रिसर्च सेंटर के रूप में स्थापित करने की मांग चल रही है।
सरकार को भेजेंगे विभाग का प्रस्ताव
राजनीति विज्ञान से सम्बद्ध करने से इसमें सुधार होगा। एकेडमिक कौंसिल व सिण्डीकेट से पास कराने के बाद विभाग खोलने के लिए सरकार के पास प्रस्ताव भेजा जाएगा।
प्रो केएल रैगर, डीन (कला संकाय), जेएनवीयू जोधपुर

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

बिहार : महागठबंधन सरकार का आज मंत्रिमंडल विस्तार, 31 मंत्री लेंगे शपथFIFA ने भारतीय फुटबॉल महासंघ को किया सस्पेंड; महिला वर्ल्ड कप की मेजबानी भी छीनीमहागठबंधन सरकार बनते आनंद मोहन को मिली आजादी, पटना में परिजनों से मिले, जेल के बदले सर्किट हाउस में बिताई राततेज हवा और झमाझम बारिश से लखनऊ में ऐतिहासिक भूल भुलैया का गुम्बद गिरापूर्व PM अटल बिहारी वाजपेयी की पुण्यतिथि आज, राष्ट्रपति, पीएम मोदी सहित कई नेताओं ने दी श्रद्धांजलिBJP के बड़े नेता और बिहार के पूर्व मंत्री सुभाष सिंह का दिल्ली में निधन, तेजस्वी यादव ने दी श्रद्धांजलिMumbai: शिंदे खेमे के विधायक प्रकाश सुर्वे के बिगड़े बोल, समर्थकों से कहा- विरोधियों ने दादागिरी की तो तोड़ दो पैर, करवा दूंगा तत्काल जमानतअरविंद केजरीवाल का आज गुजरात दौरा : भुज में प्रेस कॉन्फ्रेंस करेंगे, कर सकते हैं बड़ा ऐलान
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.