scriptHistorical Pond of Pipar City | निखरने लगा पीपाड़सिटी के सांपा सरोवर का स्वरूप | Patrika News

निखरने लगा पीपाड़सिटी के सांपा सरोवर का स्वरूप

पीपाड़सिटी नगर पालिका की ओर से शहर के प्राचीन सांपा सरोवर में घाट का निर्माण कार्य शुरू कर दिया गया हैं। इसके कार्य के लिए पालिका की ओर से अनुमानित तीस लाख रुपए खर्च करने का प्रावधान हैं। इसके निर्माण के दौरान सौन्दर्यकरण के लिए अलग अलग पीलर खड़े उस पर आर्कषण डिजाइन के जोधपुरी पत्थर से पोलों का निर्माण किया जा रहा है, जिससे सांपा सरोवर एक अलग रूप लेगा एवं आमजन के लिए एक भ्रमणीय स्थल के रूप में विकसित हो सकेगा।

जोधपुर

Updated: January 14, 2022 11:11:17 pm

पीपाड़सिटी (जोधपुर). नगर पालिका की ओर से शहर के प्राचीन सांपा सरोवर में घाट का निर्माण कार्य शुरू कर दिया गया हैं। इसके कार्य के लिए पालिका की ओर से अनुमानित तीस लाख रुपए खर्च करने का प्रावधान हैं।
निखरने लगा पीपाड़सिटी के सांपा सरोवर का स्वरूप
निखरने लगा पीपाड़सिटी के सांपा सरोवर का स्वरूप
इसके निर्माण के दौरान सौन्दर्यकरण के लिए अलग अलग पीलर खड़े उस पर आर्कषण डिजाइन के जोधपुरी पत्थर से पोलों का निर्माण किया जा रहा है, जिससे सांपा सरोवर एक अलग रूप लेगा एवं आमजन के लिए एक भ्रमणीय स्थल के रूप में विकसित हो सकेगा। अधिशासी अधिकारी सुरेशचन्द शर्मा के प्रयासों से सांपा सरोवर का सौन्दर्यीकरण कार्य करवाया जा रहा है।

अधिशासी अधिकारी ने शुक्रवार को अवलोकन कर घाट के निर्माण कार्य की प्रगति का अवलोकन करते हुए प्रवेश द्वार के चार पीलर खड़े कराए। शर्मा पीपाड़सिटी के विकास व सौन्दर्यकरण के कार्य करवाने को लेकर हमेशा सक्रिय रहे हैं।
इसके कार्यकाल में ज्योतिबा फुले पार्क, गौरव पथ, व्यास पार्क, म्यूजिकल फव्वारा, इन्दिरा कॉलोनी में अशोक उद्यान का कार्य पूरे कराए जा चुके है, शहर के सौंदर्यीकरण के कड़ी में आगामी दिनों में केंद्रीय बस स्टैंड पर गांधी बाल वाटिका एवं सांपा सरोवर पर निर्माणाधीन घाटों का लोकापर्ण किया जाएगा।
पालिकाध्यक्ष समुदेवी सांखला के अनुसार शहर में विकास कार्यो के साथ सौंदर्यीकरण को भी समान रूप से प्राथमिकता दी जा रही। सांपा सरोवर को पर्यटन स्थल के रूप में विकसित करने की लंबे समय से नागरिकों की ओर से मांग की जा रही हैं, गणपति विसर्जन, देव झूलनी, गणगौर महोत्सव सहित अन्य धार्मिक कार्यक्रमों का प्रमुख स्थल होने से पालिका की ओर से इसके विकास के लिए अनुमानित तीस लाख रुपए का बजट खर्च किया जाएगा। इसमें कबूतरों के दाने के लिए चौक, बैठने के लिए बेंच सहित घाट का निर्माण कर चन्द्र आकर में किया जाएगा।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

कम उम्र में ही दौलत शोहरत हासिल कर लेते हैं इन 4 राशियों के लोग, होते हैं मेहनतीबाघिन के हमले से वाइल्ड बोर ढेर, देखते रहे गए पर्यटक, देखें टाइगर के शिकार का लाइव वीडियोइन 4 राशि की लड़कियों का हर जगह रहता है दबदबा, हर किसी पर पड़ती हैं भारीआनंद महिंद्रा ने पूरा किया वादा, जुगाड़ जीप बनाने वाले शख्स को बदले में दी नई Mahindra BoleroFace Moles Astrology: चेहरे की इन जगहों पर तिल होना धनवान होने की मानी जाती है निशानीइन नाम वाली लड़कियां चमका सकती हैं ससुराल वालों की किस्मत, होती हैं भाग्यशालीकरोड़पति बनना है तो यहां करे रोजाना 10 रुपये का निवेशदेश में धूम मचाने आ रही हैं Maruti की ये शानदार CNG कारें, हैचबैक से लेकर SUV जैसी गाड़ियां शामिल

बड़ी खबरें

Republic Day 2022 LIVE updates: राजपथ पर दिखी संस्कृति और नारी शक्ति की झलक, 7 राफेल, 17 जगुआर और मिग-29 ने दिखाया जलवानहीं चाहिए अवार्ड! इन्होंने ठुकरा दिया पद्म सम्मान, जानिए क्या है वजहजिनका नाम सुनते ही थर-थर कांपते थे आतंकी, जानें कौन थे शहीद ASI बाबू राम जिन्हें मिला अशोक चक्रबिहार में तिरंगा फहराने के दौरान पाइप में करंट से बच्चे की मौत, कई झुलसेरेलवे का बड़ा फैसला: NTPC और लेवल-1 परीक्षा पर रोक, रिजल्‍ट पर पुर्नविचार के लिए कमेटी गठितएक गांव ऐसा भी: यहां इंसानियत ही सबसे बड़ा धर्मUP Assembly Elections 2022 : सपा सांसद आजम खां जेल से ही करेंगे नामांकन, कोर्ट ने दी अनुमतिहाईवे के ओवरब्रिजों में सीरियल बम प्लांट, जानिए सीएम योगी के लिए लेटर में क्या लिखा, Video
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.