शराब दुकान में बंदी नहीं देने पर हिस्ट्रीशीटर ने कराया था बस पर हमला, चार गिरफ्तार

- गिरोह के हिस्ट्रीशीटर सरगना का सुराग नहीं

By: Vikas Choudhary

Published: 30 Jun 2020, 12:21 AM IST

जोधपुर.
शराब दुकान में हिस्सेदारी अथवा पचास हजार रुपए मासिक बंदी देने के लिए किशोरबाग में निजी बस पर हमला करने के मामले में मण्डोर थाना पुलिस ने सोमवार को चार आरोपियों को गिरफ्तार किया। हिस्ट्रीशीटर सरगना पकड़ में नहीं आ सका।

थानाधिकारी दिलीप खदाव के अनुसार भाखरी गांव निवासी बलवीरसिंह पुत्र किशनसिंह की भेड़-भाखीर में शराब दुकान है। भेड़ गांव निवासी व हिस्ट्रीशीटर प्रेमसिंह दुकान में पचास प्रतिशत की हिस्सेदारी अथवा पचास हजार रुपए मासिक बंदी देने के लिए दबाव डाल रहा था। बलवीरसिंह के इनकार करने पर गत २६ जून को हिस्ट्रीशीटर के गुर्गों ने किशोरबाग के पास बलवीरसिंह की बस रुकवाई और उस पर हमला कर दिया। बस में तोड़-फोड़ और चालक से मारपीट की गई। आपाधापी में चालक के पैंतीस सौ रुपए व चेन नीचे गिर गई।
पुलिस ने प्रेमसिंह व उसके गुर्गों के खिलाफ अवैध वसूली के प्रयास में बस पर हमला, मारपीट व अन्य धाराओं में मामला दर्ज किया था। जांच के दौरान अलग-अलग जगहों पर दबिश देकर बालसमंद में महावेद नगर निवासी रामदेव उर्फ रणजीत पुत्र रामपाल जाट, कृष्णा तिंवरी पुत्र बृजकिशोर, बालसमन्द में पुराना बस स्टैण्ड निवासी मोहित पुत्र ताराचंद माली, पावटा चौराहे के पास लोहार कॉलोनी निवासी राकेश चौहान पुत्र रविन्द्र लोहार और मूलत: फलसूण्ड थानान्तर्गत राजमथाई हाल पहाडग़ंज निवासी विक्रम पुत्र गोपालसिंह को गिरफ्तार किया।

गिरोह के सरगना व हिस्ट्रीशीटर प्रेमसिंह पुत्र खुमानसिंह की तलाश की जा रही है। उसके खिलाफ हत्या के प्रयास, बस पर हमले, आम्र्स एक्ट, रंगदारी व मारपीट के अनेक मामले दर्ज हैं। मोहित व विक्रम सिंह के खिलाफ भी बस पर हमले के मामले दर्ज हैं।

Vikas Choudhary Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned