रेलवे जमीन दे तो, हल हो जाएगी कंटेनर लोडिंग समस्या

- हैण्डीक्राफ्ट निर्यातकों ने कॉनकोर ईडी को बताई समस्याएं

By: Amit Dave

Published: 23 Feb 2021, 07:48 PM IST

Jodhpur, Jodhpur, Rajasthan, India

जोधपुर।
हैण्डीक्राफ्ट निर्यातकों के एक प्रतिनिधिमण्डल ने मंगलवार को जोधपुर प्रवास पर आए कॉनकोर के एग्जीक्यूटिव डायरेक्टर कमल जैन (ईडी) से मिल समस्याएं बताई। जोधपुर हैण्डीक्राफ्ट एक्सपोर्ट फैडरेशन (जेएचईएफ) के संरक्षक निर्मल भंडारी व अध्यक्ष नरेश बोथरा ने बताया कि कॉनकोर आईसीडी के स्थानीय व मून्दडा पोर्ट में कंटेनरों के लोडिंग में 8 घंटे से 24 घंटे तक का समय लग रहा है। कॉनकोर आईसीडी में उपकरणों व सुविधा की कमी है। जिसका खमियाजा उद्यमियों को भुगतना पड़ रहा है।
जैन ने इस समस्या का जल्द समाधान का आश्वासन देते हुए कहा कि एक्सपोटर्स की सुविधा के लिए अतिरिक्त स्थान मुहैया कराया जाएगा। साथ ही कॉनकोर के समक्ष उपलब्ध स्थान को इस सुविधा के लिए लिया जाएगा, जो वर्तमान में रेलवे यार्ड स्पेस के तौर में उपयोग में लिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि यदि रेलवे यह जमीन कॉनकोर को दे दे तो इस समस्या का स्थाई निदान हो जाएगा। गौरतलब है कि तकरीबन दो हजार से अधिक खाली कंटेनर कॉनकोर में है। जिसके चलते जगह कम होने के कारण क्रेन व अन्य उपकरणों का उचित उपयोग नहीं हो पा रहा है।
प्रतिनिधिमण्डल में जेएचईएफ के प्रियेश भंडारी, नरेन्द्र जैन, राजेन्द्र बंसल, जेपी जैन, ललित जौहरी और जोधपुर हैण्डीक्राफ्ट एक्सपोर्टर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष डॉ भरत दिनेश, राजेन्द्र मेहता व मनीष झंवर शामिल थे।
---

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned