प्रतिबंध के बावजूद धड़ल्ले से बिक रहे तंबाकू उत्पाद, किराणा से लेकर स्टेशनरी दुकान तक आसानी से हो रही बिक्री

कोरोना वायरस के प्रकोप को देखते हुए राज्य सरकार ने गुटखा, तंबाकू उत्पादों की बिक्री पर पूरी तरह से प्रतिबंध लगा दिया है, लेकिन शहर में इसकी अवैध बिक्री धड़ल्ले से जारी है। इसमें किराणा दुकान से लेकर स्टेशनरी की दुकान पर भी इन उत्पादों की कालाबाजारी कर ऊंचे दामों में बेचा जा रहा है।

By: Harshwardhan bhati

Published: 22 May 2020, 12:06 PM IST

जोधपुर. कोरोना वायरस के प्रकोप को देखते हुए राज्य सरकार ने गुटखा, तंबाकू उत्पादों की बिक्री पर पूरी तरह से प्रतिबंध लगा दिया है, लेकिन शहर में इसकी अवैध बिक्री धड़ल्ले से जारी है। इसमें किराणा दुकान से लेकर स्टेशनरी की दुकान पर भी इन उत्पादों की कालाबाजारी कर ऊंचे दामों में बेचा जा रहा है।

पत्रिका टीम ने भी पड़ताल की तो शहर के बासनी, झालामंड व सांगरिया क्षेत्र में कई जगहों पर इन उत्पादों को रोक के बावजूद बेचा जा रहा था। झालामंड में तो स्टेशनरी की दुकान पर भी मुंहमांगे दामों पर तंबाकू उत्पाद बेचे जा रहे हैं। कहने को जिम्मेदार भले ही लगातार कार्रवाई की बात कह रहे हो, लेकिन इन जगहों पर दुकानों में बेरोकटोक इन उत्पादों को बेचा जा रहा है।

डेयरी बूथ के नाम पर भी हो रही बिक्री
कहने को डेयरी बूथ में गुटखा, तंबाकू उत्पादों की बिक्री पर सख्त प्रतिबंध है, लेकिन इन बूथ में धड़ल्ले से तंबाकू उत्पाद बेचे जा रहे हैं। टीम ने बासनी में एक सरस बूथ संचालक से तंबाकू पैकेट मांगा तो बूथ संचालक 8 गुना दाम के साथ जितने मर्जी पैकेट देने को तैयार हो गया। जबकि नियमानुसार सरस के बूथ में सिर्फ डेयरी उत्पादों की ही बिक्री हो सकती है। वहीं बासनी पुलिस थाने के समीप ही होलसेल किराणा स्टोर संचालक भी अधिक दाम में तंबाकू उत्पाद उपलब्ध करवाने का दावा करने लगा।

Harshwardhan bhati
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned