scriptInnovations adopted in farming | खेती में अपनाया नवाचार : चार माह में ही ले ली 15 लाख की खीरा ककड़ी की पहली उपज | Patrika News

खेती में अपनाया नवाचार : चार माह में ही ले ली 15 लाख की खीरा ककड़ी की पहली उपज

भोपालगढ़ उपखण्ड क्षेत्र के ढंढ़ोरा गांव के दो सगे किसान भाइयों ने करीब एक करोड़ रुपए की राशि खर्च कर अपने खेत में करीब 8 हजार वर्गमीटर क्षेत्रफल में अत्याधुनिक पॉलीहाउस का निर्माण करवाया है।

 

जोधपुर

Published: February 18, 2022 10:52:49 am

फैक्ट फाइल -

- पॉलीहाउस पर आई लागत - करीब 1 करोड़ रुपए

- बैंक से मिला ऋण - करीब 75 लाख रुपए

- पहली उपज से आय - करीब 15 लाख
खेती में अपनाया नवाचार : चार माह में ही ले ली 15 लाख की खीरा ककड़ी की पहली उपज
खेती में अपनाया नवाचार : चार माह में ही ले ली 15 लाख की खीरा ककड़ी की पहली उपज
- पहली उपज में लगा समय - करीब 4 माह

- पॉलीहाउस का दायरा - करीब 8000 वर्ग मीटर

भोपालगढ़ (जोधपुर) . भोपालगढ़ उपखण्ड क्षेत्र के ढंढ़ोरा गांव के दो सगे किसान भाइयों ने करीब एक करोड़ रुपए की राशि खर्च कर अपने खेत में करीब 8 हजार वर्गमीटर क्षेत्रफल में अत्याधुनिक पॉलीहाउस का निर्माण करवाया है। चार महिने के अल्प समय में ही इन किसान बंधुओं ने इस पॉलीहाउस में खीरा ककड़ी की खेती कर करीब 15 लाख रुपए से अधिक की आमदनी भी प्राप्त कर ली है।
दो प्रगतिशील किसान भाइयों अजीतसिंह राजपुरोहित व महिपालसिंह राजपुरोहित ने अपने शामलाती खेत में संयुक्त रूप से करीब 8000 वर्ग मीटर इलाके में सरकार की देय कृषि योजनाओं का लाभ उठाते हुए आधुनिक पॉलीहाउस का निर्माण करवाया है। इसमें तारबंदी, जल फार्म पौण्ड, पैकहाउस व ड्रिप सिचांई प्रणाली आदि भी शामिल हैं।
खेती में अपनाया नवाचार

महिपालसिंह राजपुरोहित ने बताया कि परम्परागत खेती से फसलों का वांछित लाभ नहीं मिलने की दशा में उन्होंने उद्यानिकी फसलों की खेती के बारे में विचार किया। जिसके बाद उन्होंने पॉलीहाउस निर्माण डीलर से चर्चा कर खेत की मिट्टी व जल की जांच रिपोर्ट के आधार पर कुछ ही समय में करीब चार माह पहले अपने खेत के 8 हजार वर्गमीटर क्षेत्र में पॉलीहाउस का निर्माण करवा लिया।
पॉलीहाउस के साथ ही वर्षा जल संचय के लिए मध्यम आकार का फार्म पौण्ड, खेत की तारबंदी, ड्रिप सिचांई संयत्र व पैक हाउस आदि के निर्माण पर कुल एक करोड़ से अधिक की लागत आई और इसमें से 75 लाख रुपए का बैंक ऋण तथा शेष राशि स्वयं ने खर्च की। पॉलीहाउस बनवाते ही सबसे पहले खीरा ककड़ी की खेती की और इससे चार महिनों में ही करीब 15 लाख से अधिक की आमदनी भी प्राप्त कर ली। किसान अजीतसिंह राजपुरोहित ने बताया कि यह पॉलीहाउस पश्चिमी राजस्थान की जलवायु में बहुउपयोगी है।
पॉलीहाउस में ककड़ी, मिर्च, टमाटर, ब्रोकली, जुगनी इत्यादि कई प्रकार की उन्नत उद्यानिकी फसलों की खेती किसी भी तरह के मौसम में और अनुकूल अथवा प्रतिकूल परिस्थितियों में भी आसानी से करते हुए अच्छा उत्पादन प्राप्त किया जा सकता है।
क्या कहते हैं अधिकारी

खेती में नवाचार को अपनाना इस क्षेत्र के किसानों की वर्तमान परिस्थितियों के अनुसार अब जरुरत भी है। इसके लिए शैड-नेड, पॉलीहाउस, बागवानी, सब्जी आदि के साथ-साथ अनार, खजूर व ब्रोकली आदि की खेती एवं इसके लिए बूंद-बूंद सिचांई पद्धति, सामुदायिक जल संरक्षण ढाचां आदि नवाचार के माध्यम से खेती से होने वाली आय में वृद्धि की जा सकती है।
- रफीक अहमद कुरैशी, कृषि पर्यवेक्षक, भोपालगढ़

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Veer Mahan जिसनें WWE में मचा दिया है कोहराम, क्या बनेंगे भारत के तीसरे WWE चैंपियनName Astrology: इन नाम वाले लोगों के जीवन में अचानक से धनवान बनने का होता है योगफटाफट बनवा लीजिए घर, कम हो गए सरिया के दाम, जानिए बिल्डिंग मटेरियल के नए रेटबुध जल्द वृषभ राशि में होंगे मार्गी, इन 4 राशियों के लिए बेहद शुभ समय, बनेगा हर कामबेहद शार्प माइंड होते हैं इन 4 राशियों के लोग, बुध और शनि देव की रहती है इन पर कृपाज्योतिष: रूठे हुए भाग्य का फिर से पाना है साथ तो करें ये 3 आसन से कामराजस्थान में देर रात उत्पात मचा सकता है अंधड़, ओलावृष्टि की भी संभावनाशादी के 3 दिन बाद तक दूल्हा-दुल्हन नहीं जा सकते टॉयलेट! वजह जानकर हैरान हो जाएंगे आप

बड़ी खबरें

जम्मू कश्मीरः बारामूला में जैश-ए-मोहम्मद के तीन पाकिस्तानी आतंकी ढेर, एक पुलिसकर्मी शहीदDelhi News Live Updates: दिल्‍ली में फैक्‍ट्री से 21 बाल मजदूर छुड़ाए गए, आरोपी फैक्ट्री मालिक की 6 फैक्ट्रियां सीलसुप्रीम कोर्ट में पूजा स्थल कानून के खिलाफ दायर की गई याचिका, संवैधानिक वैधता को चुनौतीTexas Shooting: अमरीकी राष्ट्रपति ने टेक्सास फायरिंग की घटना को बताया नरसंहार, बोले- दर्द को एक्शन में बदलने का वक्तजातीय जनगणना सहित कई मुद्दों को लेकर आज भारत बंद, जानिए कहां रहेगा इसका ज्यादा असरपंजाब CM Bhagwant Mann का एक और बड़ा फैसला, सरकारी नौकरियों के लिए पंजाबी भाषा है जरूरीकपिल सिब्बल समाजवादी पार्टी के टिकट से जाएंगे राज्यसभा, बताई कांग्रेस छोड़ने की वजहशिवसेना नेता यशवंत जाधव की बढ़ी मुश्किलें, ED ने जारी किया समन
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.