Swarnim Bharat : बचपन में संघर्ष झेले, अब मासूमों को बाल विवाह से मुक्ति दिलवा रहीं कृति भारती

जोधपुर ( jodhpur news current news) . स्वर्णिम भारत ( Swarnim Bharat ) के तहत अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर अगर हम नजर दौड़ाएं तो मारवाड़ में बाल विवाह निरस्त करवाने की अनूठी साहसिक मुहिम में जुटी हैं जोधपुर की युवा शख्सियत डॉ. कृति भारती ( Kriti Bharti ) । उन्होंने देश का पहला बाल विवाह निरस्त करवा कर मिसाल कायम की है। अब तक 40 जोड़ों के बाल विवाह निरस्त करवाए हैं। कृति भारती ने 1300 से अधिक बाल विवाह रुकवाए हैं ( rajasthan news latest NRI News in hindi ) ।

By: M I Zahir

Updated: 07 Mar 2020, 07:59 PM IST

Jodhpur, Jodhpur, Rajasthan, India

जोधपुर ( jodhpur news current news ) . स्वर्णिम भारत ( Swarnim Bharat ) के तहत अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर अगर हम नजर दौड़ाएं तो मारवाड़ में बाल विवाह निरस्त करवाने की अनूठी साहसिक मुहिम में जुटी हैं जोधपुर की युवा शख्सियत डॉ. कृति भारती ( Kriti Bharti ) । उन्होंने देश का पहला बाल विवाह निरस्त करवा कर मिसाल कायम की है। अब तक 40 जोड़ों के बाल विवाह निरस्त करवाए हैं। कृति भारती ने 1300 से अधिक बाल विवाह रुकवाए हैं। वहीं 20 हजार से अधिक लोगों को बाल विवाह न करने व न करवाने की शपथ दिलवाई है ( rajasthan news latest NRI News in hindi )।

पहले दुनिया में आने की जिद, उसके बाद खुद की जिंदगी में कड़े संघर्षों की जद्दोजहद से उबरने के बाद अब रूढि़वादी कुरीति बाल विवाह जड़ से मिटाने का संकल्प लेकर बाल विवाह निरस्त व रोकथाम करने की साहसिक मुहिम में अपनी जान जोखिम में डाली और हजारों बाल विवाह पीडि़ताओं को बाल विवाह की बेडिय़ों से मुक्ति दिलवा कर उनकी जिंदगी में खोई मुस्कान लौटा रही हैं। बदलाव की नायिका जोधपुर के सारथी ट्रस्ट की मैनेजिंग ट्रस्टी व पुनर्वास मनोवैज्ञानिक डॉ.कृति भारती आज मासूमों को बाल विवाह की बेडिय़ों से मुक्ति दिलाने की सारथी बनी हुई हैं। वे खुद कुंवारी होने के बावजूद कई बालिका वधुओं को संरक्षण देकर मां बनी हुई हैं।

करीब 32 वर्षीय डॉ.कृति भारती ने युवा अवस्था की मौज-मस्ती को तिलांजलि देकर बच्चों और महिलाओं के लिए कुछ नया कर गुजरने का संकल्प ले कर सेवा की डगर अपना रखी है। इस डगर पर जान की जोखिम झेलने के अलावा उन मुसीबतों से हर दिन साक्षात करना पड़ता है। ऐसी जान की जोखिमों में शायद एक पुरुष भी भयभीत हो जाए, उन जोखिमों को डॉ.कृति हंसते हुए पार कर महिलाओं के अबला होने के मिथक को तोड़ कर युवाओं व समाज के लिए आदर्श स्थापित कर रही है।
-

जहर खिलाया तो अंगों से लाचार
इन संघर्षों के बीच एक नया संघर्ष दस साल की उम्र में आया। किसी ने डॉ.कृति को कोई धीमा जहर खिला दिया। जिससे उसके अंग कमजोर हो गए। इसके बाद रैकी चिकित्सा से धीरे-धीरे डॉ.कृति के अंगों में वापस जान लौटी। वहीं करीब साढ़े ग्यारह साल की उम्र में दुबारा से काफी असहनीय पीड़ाओं से गुजर कर दुबारा घुटनों के बल चलना सीखा। करीब 12 साल की उम्र में डॉ.कृति दुबारा खुद पैरों पर खड़ी होकर चलने में सक्षम हो पाईं।

40 बाल विवाह निरस्त, सैंकडों रुकवाए

डॉ.कृति भारती ने राजस्थान में अब 40 जोड़ों के कई सालों पूर्व हुए बाल विवाह निरस्त करवाने के अलावा 1300 से अधिक बाल विवाह सम्पन्न होने के पहले ही रुकवाने का भी रिकॉर्ड कायम कर रखा है। इसके अलावा डॉ.कृति भारती ने ग्रामीण क्षेत्रों में ओरिएंटेशन कैम्प करवा कर 20 हजार से अधिक ग्रामीणों व विद्यार्थियों को बाल विवाह निरस्त व रोकथाम करवाने की शपथ दिलवाई है। उन्होंने अब तक करीब 7 हजार बछोङ और 6 हजार महिलाओं को पुनर्वासित भी किया है। डॉ.कृति भारती का नाम लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्ड्स, वल्र्ड रिकॉर्ड इंडिया, यूनिक बुक ऑफ वल्र्ड रिकॉर्ड सहित कई रिकॉडर््स में दर्ज किया जा चुका है। वर्ष 2016 में महज तीन दिन में दो जोड़ों के बाल विवाह निरस्त करवाने पर डॉ. कृति का नाम वल्र्ड रिकॉर्ड इंडिया, इंडिया बुक ऑफ रिकॉर्ड्स व यूनिक वल्र्ड रिकॉड्र्स में शामिल किया गया था। उनका कहना है कि बाल विवाह रुकवाने का यह सफर लगातार जारी रहेगा।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned