scriptदिल का मामला है, इसलिए हाउसफुल है | Patrika News
जोधपुर

दिल का मामला है, इसलिए हाउसफुल है

यह हाउसफुल तस्वीर एमडीएम अस्पताल के कार्डियक ओपीडी की है।

जोधपुरMay 16, 2024 / 11:07 pm

Avinash Kewaliya

कोविड के पहले 200 से कम रहती थी, कोविड के बाद 350 को पार कर जाती है

कोविड के पहले 200 से कम रहती थी, कोविड के बाद 350 को पार कर जाती है

अब तक जनरल मेडिसिन ओपीडी में मौसमी बीमारियों के मरीजों की भीड़ देखी है। लेकिन यह दिल की बीमारी से ग्रसित मरीज है। खचाखच भरे इस हॉल में लोग घंटों तक अपनी बारी का इंतजार करते हैं। कोविड के बाद कार्डियक मरीज भी करीब डेढ़ गुणा तक बढ़े हैं। इनमें कई युवा भी हैं। कोविड से पहले जहां ओपीडी 200 से कम रहती थी। वहीं अब यह एक दिन में 300 या कई बार तो 350 को पार कर जाती है। ऐसे में ओपीडी में पर्ची लेने, डॉक्टर को दिखाने और दवाई लेने के लिए कतारें लगना आम बात है। ओपीडी डे होने के कारण कतारें लगती है। जोधपुर शहर ही नहीं आस-पास के ग्रामीण क्षेत्रों से भी मरीज आते हैं। हालात यह है कि कई बार घंटों इंतजार करना पड़ता है।

Hindi News/ Jodhpur / दिल का मामला है, इसलिए हाउसफुल है

ट्रेंडिंग वीडियो