Jodhpur: 9 फीसदी रहा सीए का परीक्षा परिणाम

 

जोधपुर. दी इन्स्टीट्यूट ऑफ चार्टर्ड एकाउन्टेन्ट्स ऑफ इण्डिया द्वारा सीए फ ाइनल (ओल्ड व न्यू कोर्स), सीपीटी और सीए फ ाउन्डेशन मई/जून 2018 का परिणाम घोषित किया गया। सीए फाइनल में जोधपुर से बैठने वाले करीब 9 फीसदी परीक्षार्थी पास हुए। ऑल इंडिया स्तर पर भी यही परिणाम रहा।

 

By: Gajendrasingh Dahiya

Published: 20 Jul 2018, 10:00 PM IST

Jodhpur, Rajasthan, India


आईसीएआई की स्थानीय शाखा अध्यक्ष अजय सोनी और शाखा सचिव प्रशान्त भण्डारी ने बताया कि सीए फ ाइनल परीक्षा मई 2018 में हुई। पुराने पाठ्यक्रम में दोनो ग्रुप (बोथ ग्रुप) में 367 छात्र बैठे। इसमें से 32 छात्रों ने दोनों ग्रुप पास किए, जबकि 65 छात्रों ने प्रथम ग्रुप और 9 छात्रों ने द्वितिय ग्रुप उत्तीर्ण किया। केवल प्रथम ग्रुप की परीक्षा देने वाले 423 छात्रों मे से 86 पास हुए। केवल द्वितीय ग्रुप में बैठने वाले 366 छात्रों मे से 69 उत्तीर्ण हुए। इसी प्रकार सीए फ ाइनल (न्यू कोर्स) में दोनो ग्रुप (बोथ ग्रुप) में 6 छात्रो में से 2 छात्र उत्तीर्ण हुए, जबकि केवल एक छात्र ने द्वितीय ग्रुप उत्तीर्ण किया। केवल प्रथम ग्रुप की परीक्षा देने वाले 31 छात्रों मे से 6 जने पास हुए। केवल द्वितीय ग्रुप की परीक्षा देने वाले छह छात्रों में से केवल एक उत्तीर्ण हुआ।

 

सीए फाइनल में जोधपुर को केवल नए पाठ्यक्रम से दो मैरिट मिली है। देश भर में ५ वां स्थान हासिल करने वाले मुकुंद माहेश्वरी और १४ वें स्थान पर रहने वाले सुमनेश राठी का शुक्रवार शाम को आइसीएआइ की स्थानीय शाखा में अभिनदंन किया गया। शाखा के कार्मिकों व अधिकारियों ने दोनों का माल्यार्पण किया व मुंह मीठा करवाया। सीए फाइनल के पुराने पाठ्यक्रम से जोधपुर को इस बार एक भी मैरिट नहीं मिली। सीपीटी व सीए फाउण्डेशन में भी जोधपुर की मैरिट नहीं है।

सीपीटी व फाउण्डेशन में रहे अव्वल
जोधपुर से सीपीटी में लगभग 496 छात्रों ने परीक्षा दी। इसमें राधव राठी और प्रियल माथुर ने सर्वाधिक अंक प्राप्त किए। रिया मोहनोत ने फ ाउन्डेशन में सर्वाधिक अंक प्राप्त किए। शाखा उपाध्यक्ष रितेश भूतडा ने सभी उत्तीर्ण विद्यार्थियों को उज्ज्वल भविष्य की शुभकामनाएं दी।

यह है नया पैटर्न

आईपीसीसी ने इस साल मई में नया पैटर्न लागू किया। सीए पाठ्यक्रम की प्रवेश परीक्षा सीपीटी का नया नाम सीए फाउण्डेशन किया गया है लेकिन सीपीटी भी जून २०१९ तक चलेगी। सीपीटी में केवल एक पेपर होता था वह भी ऑब्जेक्विट प्रकार का। सीए फाउण्डेशन परीक्षा चार दिन चलेगी। इसमें दो पेपर ऑब्जेक्टिव व दो सब्जेक्टिव है। सीपीटी हर साल दो बार जून व दिसम्बर में होती है जबकि सीए फाउण्डेशन मई व नवम्बर में होगी। आईपीसीसी का नाम अब इंटरमीडिएट करके पेपर की संख्या ७ से बढ़ाकर ८ कर दी। पुराने रजिस्टर्ड छात्रों के लिए आईपीसीसी जून २०१९ तक है। सीए फाइनल में एक इलेक्टिव विषय रखा गया है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned