scriptJodhpur - Karauli Violence : SIT in jodhpur for inquire | Jodhpur - Karauli Violence के सही कारणों का पता करने पहुंची स्पेशल टीम, लोगों ने कुछ यूं बयां की पीड़ा... | Patrika News

Jodhpur - Karauli Violence के सही कारणों का पता करने पहुंची स्पेशल टीम, लोगों ने कुछ यूं बयां की पीड़ा...

Jodhpur - Karauli Violence : एडीजी बीजू जॉर्ज जाेसफ के नेतृत्व में गठित की गई है एसआइटी

जोधपुर

Published: May 10, 2022 06:35:05 pm

Jodhpur - Karauli Violence : पहले Karauli और फिर Jodhpur. ऐसे ही कुछ अन्य जिलों में Violence और उपद्रव की जांच किसी एक पैटर्न पर तो नहीं हो रही, इसकी जांच करवाने के लिए राज्य सरकार ने कदम बढ़ाया है।
Jodhpur - Karauli Violence के सही कारणों का पता करने पहुंची स्पेशल टीम, लोगों ने कुछ यूं बयां की पीड़ा...
Jodhpur - Karauli Violence के सही कारणों का पता करने पहुंची स्पेशल टीम, लोगों ने कुछ यूं बयां की पीड़ा...
राज्य के कुछ जिलों में उपद्रव के मामलों की जांच करने के लिए गठित स्पेशल इंवेस्टिगेशन टीम (SIT) सोमवार को जोधपुर पहुंची और देर रात तक शहर के भीतरी क्षेत्र का जायजा लेकर आमजन से जानकारी हासिल की।
पुलिस महानिदेशक एमएल लाठर ने जोधपुर के साथ करौली व Bhilwara में उपद्रव की जांच के लिए गत दिनों अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (विजिलेंस) बीजू जॉर्ज जोसफ के नेतृत्व में छह अधिकारियों की एसआइटी का गठन किया था। जिसमें आइजी (अपराध) राजेन्द्रसिंह, पुलिस अधीक्षक (एसओजी) गौरव यादव, एएसपी (महिला अपराध व अनुसंधान सैल करौली) किशोर बुटोलिया, एसीपी (पश्चिम) चक्रवतीसिंह व भीलवाड़ा में सीओ (सदर) रामचन्द्र को शामिल किया गया है।
एसआइटी सोमवार रात जोधपुर पहुंची। पुलिस कमिश्नर नवज्योति गोगोई से मुलाकात करने के बाद एसआइटी ने भीतरी क्षेत्र का जायजा लिया। चाकू से हमले में दीपकसिंह के घायल होने वाले क्षेत्र सुनारों का बास में एसआइटी ने स्थानीय लोगों से बातचीत की और उपद्रव के पीछे मुख्य कारणों को जानने का प्रयास किया। एसआइटी के सदस्य कबूतरों का चौक से लेकर उपद्रव से प्रभावित भीतरी क्षेत्र में घूमे और मामले से जुड़े लोगों से फीडबैक लिया। देर रात टीम जालोरी गेट सर्किल आई, जहां से फिर सर्किट हाउस लौटी।
एक माह में देनी है रिपोर्ट
एसआइटी का गठन उपद्रव के पीछे कारणों का पता लगाना है। ताकि यह पता लगाया जा सके कि तीनों जिलों में उपद्रव के पीछे समान कारण हैं या कोई अलग-अलग वजह हैं। एसआइटी को एक माह में सरकार के समक्ष जांच रिपोर्ट पेश करनी है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

धन को आकर्षित करती है कछुआ अंगूठी, लेकिन इस तरह से पहनने की न करें गलतीज्योतिष: बुध का मिथुन राशि में गोचर 3 राशि के लोगों को बनाएगा धनवानपैसा कमाने में माहिर माने जाते हैं इस मूलांक के लोग, तुरंत निकलवा लेते हैं अपना कामजुलाई में चमकेगी इन 7 राशियों की किस्मत, अपार धन मिलने के प्रबल योगडेली ड्राइव के लिए बेस्ट हैं Maruti और Tata की ये सस्ती CNG कारें, कम खर्च में देती हैं 35Km तक का माइलेज़ज्योतिष: रिश्ते संभालने में बड़े कच्चे होते हैं इस राशि के लोगजान लीजिए तुलसी के इस पौधे को घर में लगाने से आती है सुख समृद्धिहाथ में इन निशान का होना मां लक्ष्मी की कृपा प्राप्त होने का माना जाता है संकेत

बड़ी खबरें

Maharashtra Political Crisis: उद्धव ठाकरे के इस्तीफे के बाद बीजेपी की बैठक आज, देवेंद्र फडणवीस करेंगे बड़ी घोषणाMaharashtra Political Crisis: महाराष्ट्र में फिर बनेगी बीजेपी की सरकार, देवेंद्र फडणवीस 1 जुलाई को ले सकते है सीएम पद की शपथWeather Update: दिल्ली-एनसीआर में मानसून की दस्तक, IMD ने जारी किया आंधी-तूफान का अलर्टउदयपुर मर्डर : आरोपियों के घर से जब्त की सामग्री, चार और संदिग्ध हिरासत मेंइलाहाबाद हाईकोर्ट से अनिल अंबानी को मिली राहत, उत्पीड़न कार्रवाई पर लगी रोक, जानिए पूरा मामलादो जुलाई से इन सुपरफास्ट ट्रेनों में कर सकेगें जनरल टिकट पर यात्राMaharashtra Political Crisis: उद्धव सरकार गिरने के बाद Twitter पर ट्रेंड कर रहा है 'उखाड़ दिया' हैशटैग, यूजर्स के निशाने पर हैं संजय राउतWorld Athletic Championhip:भारत को बड़ा झटका, सीमा पुनिया, भावना जाट और राहुल चैंपियनशिप से हटे
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.