यह प्रोजेक्ट पूरा करने में प्रथम रहा नगर निगम

यह प्रोजेक्ट पूरा करने में प्रथम रहा नगर निगम
jodhpur municipal corporation

Harshwardhan Singh Bhati | Updated: 31 Jan 2017, 11:13:00 AM (IST) Jodhpur, Rajasthan, India

नगर निगम पिछले दिनों फर्जी पट्टा प्रकरण और राजनीतिक उथल पुथल के लिए सुर्खियों में रहा है, मगर अब यह एलईडी प्रोजेक्ट्स पूरे करने में देश में दूसरे स्थान पर आ गया है। इस काम में निगम ने सामूहिक प्रयास किए और मेहनत रंग लाई।

केंद्र सरकार की ओर से शुरू किए गए एलईडी लाइट्स प्रोजेक्ट को मूर्त रूप देते हुए जोधपुर नगर निगम ने सामूहिक प्रयासों से पूरे देश में दूसरा स्थान हासिल किया है।

लाइटों को एलईडी से बदला 

महापौर घनश्याम ओझा ने बताया कि बजट घोषणा के अनुसार शहर में एलईडी लाइट्स प्रोजेक्ट की शुरूआत की गई थी। इस कार्य में निगम अधिकारियों के साथ ही पार्षदों का भी पूरा सहयोग मिला। ओझा ने बताया कि अब तक 72 हजार लाइट में से 63 हजार से अधिक लाइटों को एलईडी से बदला जा चुका है।

सीसीएमएल लगाने का कार्य

वहीं शेष रहे पोल पर लाइट्स लगाने और सीसीएमएल लगाने का कार्य किया जा रहा है जो जल्द ही पूरा कर लिया जाएगा। महापौर ने बताया कि शहर मे एलईडी लाइट्स लग जाने से विद्युत व्यय में 50 से 55 प्रतिशत की कमी हुई है। इससे वर्ष भर में करीब 30 करोड़ रुपए की बचत होगी। एलईडी लाइट्स लगने से करीब सात मेगावाट बिजली की बचत हो रही है, जिससे सुदूर गांव-ढ़ाणी में बैठे लोगों को इसका लाभ मिलेगा।

नगर निगम अग्रणी रहा

ओझा ने बताया कि पूरे देश में राजस्थान प्रदेश ने पारम्परिक लाइटों को एलईडी लाइटों में बदलने में पहला स्थान हासिल किया था और प्रदेश में जोधपुर नगर निगम अग्रणी रहा है। जोधपुर से अधिक एलईडी लाइट्स केवल दक्षिण दिल्ली में लगी हैं और उसके बाद जोधपुर का पूरे देश में एलईडी लाइट्स लगाने मे दूसरा स्थान हासिल किया है। सीएम ने भी इसकी सराहना की है।


Show More

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned