कार्यस्थल पर सेनेटाइजर, साबून क्यों नहीं है, श्रमिक कैसे कम मिले, जबाद दे

मनरेगा एक्सईएन ने मंडोर पंचायत समिति के बीडीओ से मांगा स्पष्टीकरण

By: Om Prakash Tailor

Published: 24 Jul 2020, 12:00 AM IST

जोधपुर. मनरेगा कार्यस्थलों पर मिली कमियों व गड़बड़झाले को लेकर मंडोर पंचायत समिति के बीडीओ से मनरेगा एक्सईएन ने लिखित में स्पष्टीकरण मांगते हुए व्यवस्था दुरुस्त करने के आदेश जारी किए। ज्ञात रहे कि मंडोर पंचायत के सुरपुरा के ढढिया नाडी में मस्टररोल में भरी हाजरी से चार श्रमिक मौके पर कम मिले थे। तथा
खोखरिया ग्राम पंचायत के निबलाव नाडी खुदाई कार्य स्थल पर खोखरिया ग्राम पंचायत के खसरा संख्या 61 में गोचर में चल रहे मेडबंदी व सौन्दर्यकरण कार्यस्थल पर श्रमिकों के लिए सेनेटाइजर, साबून आदि की व्यवस्था नहीं थी। इसके साथ ही यहां श्रमिकों के लिए टेंट व ठंडे पानी तक की व्यवस्था नहीं थी। इसको लेकर राजस्थान पत्रिका ने 22 जुलाई को अंक में मनरेगा में गड़बड़झाला, कहीं श्रमिक कम तो कहीं मस्टरोल से हाजरी गायब शीर्षक समाचार प्रकाशित कर अव्यवस्थाओं को उजागर किया था। जिस पर जिला परिषद हरकत में आया तथा लेटर जारी कर मंडोर पंचायत के बीडीओ विक्रमसिंह से स्पष्टीकरण मांगते हुए व्यवस्था दुरुस्त करने के आदेश जारी किए।

Om Prakash Tailor
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned