जोधपुर की पंचायतों में रसूखदारों की बल्ले बल्ले

Manish Panwar | Publish: Feb, 03 2018 11:00:12 AM (IST) Jodhpur, Rajasthan, India

जाखड़ों की ढाणियों में है यह हाल,ग्रामीणों ने दी आन्दोलन की चेतावनी .

 

पंचायत के जाखड़ों की ढाणियों में आज से पांच साल पूर्व सरकारी स्कूल के पास एक जीएलआर का निर्माण करवाया जा चुका था। उसके बाद वहां क्षेत्रीय विधायक व मंत्री खींवसर की अनुशंसा पर तीन साल पूर्व नलकूप स्वीकृत हुआ, जो दो साल से संचालित हो रहा है। पहले से बने जीएलआर के पास एक और जीएलआर का निर्माण कार्य शुरू, ग्रामीणों में रोष

 

तीन साल पूर्व नलकूप स्वीकृत हुआ
देणोक. पंचायत के जाखड़ों की ढाणियों में आज से पांच साल पूर्व सरकारी स्कूल के पास एक जीएलआर का निर्माण करवाया जा चुका था। उसके बाद वहां क्षेत्रीय विधायक व मंत्री खींवसर की अनुशंसा पर तीन साल पूर्व नलकूप स्वीकृत हुआ, जो दो साल से संचालित हो रहा है। उसके पास पीएचईडी की ओर जीएलआर व पशु खेळी स्वीकृत हुई, उक्त जीएलआर व पशु खेळी का निर्माण नलकूप से दो सौ मीटर दूर राजनैतिक रसूख वाले परिवारों के घरों के नजदीक किया जा रहा है।

 

ग्रामीणों ने आन्दोलन की चेतावनी दी है
अधिकारी कर रहे गुमराह इस बारे में ग्रामीणों ने विभाग के कनिष्ठ अभियन्ता से शिकायत की तो उन्होंने नलकूप के पास नया जीएलआर व पशु खेळी स्वीकृत होना बताया। पहले वाला जीएलआर जितना नलकूप के पास है, उससे कई गुना दूर नये जीएलआर का निर्माण करवाया जा रहा है। इस स्थिति में ग्रामीणों ने आन्दोलन की चेतावनी दी है। ग्रामीणों की मांग अनसुनी सरपंच प्रतिनिधि धनाराम चौधरी व मेघवालों व जोगियों की ढाणियों के ग्रामीणों ने विभाग के अधिकारियों व मंत्री की जनसुनवाई में उक्त नलकूप के पास जो जीएलआर स्वीकृत हुआ उसका निर्माण मेघवालों व जोगियों की ढाणियों के पास बने भोमियाजी के थान के पास करवाने की मांग रखी, लेकिन कुछ लोगों ने राजनैतिक पहुंच के चलते इसे अपने घरों के पास करवा दिया।

 

कलक्टर से मिलेंगे ग्रामीण
कलक्टर से मिलेंगे ग्रामीण मेघवालों व जोगियों की ढाणियों के बाशिन्दों ने बताया कि वे इस मामले की जांच करवाने के लिए सोमवार को कलक्टर से मिलेंगे और उनसे शिकयत करेंगे कि उनकी एक दर्जन से अधिक ढाणियों में आजादी के बाद भी पानी व बिजली का अकाल है, जबकि कुछ परिवारों के घरों के पास दो-दो जीएलआर व पशु खेळियां बन रही हैं।


निस. इनका कहना है यदि एक स्थान पर दो जीएलआर व पशु खेळी बन रहे हैं तो गलत बात है। इसकी जांच करवाई जाएगी और विभाग के उच्चाधिकारियों से भी बात करेंगे। अनिलकुमार जैन, उपखण्ड अधिकारी, फलोदी।
हमारे पास इस मामले की किसी ने कोई शिकायत नहीं की है। इसके बावजूद यदि आपको ग्रामीणों ने बताया है, तो मैं इसकी जांच करवाऊंगा।

जेपी व्यास, अधिशासी अभियन्ता, पीएचईडी, फलोदी।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned