Justice Magraj Kalla no more जस्टिस मघराज कल्ला नहीं रहे, जयपुर के सवाई मानसिंह अस्पताल में हुआ निधन

jay kumar bhati

Publish: May, 16 2019 09:05:23 PM (IST)

Jodhpur, Jodhpur, Rajasthan, India

जोधपुर. राजस्थान उच्च न्यायालय के पूर्व कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश जस्टिस मगराज कल्ला का गुरुवार तडक़े जयपुर में निधन हो गया। वे 77 वर्ष के थे। कल्ला का अंतिम संस्कार जोधपुर में गुरुवार शाम को सिवाची गेट स्थित श्मशान घाट पर हुआ। वे साहित्य अनुरागी, शाइरी और मुशायरों के शौकीन थे। जस्टिस कल्ला ने जोधपुर के अलावा गुजरात और नई दिल्ली में भी मुशायरे आयोजित करवाए थे। वे मशहूर शाइर शीन काफ निजाम के घनिष्ठ मित्र थे।

सिवांची गेट श्मशान मे अंतिम संस्कार
उनकी पार्थिव देह जयपुर से जोधपुर लाई गई। उनकी अंतिम यात्रा शाम को 5 बजे शहर परकोटे के भजन चौकी कल्लों की गली से रवाना होकर सिवांची गेट श्मशान पहुंची। जहां जस्टिस कल्ला का अंतिम संस्कार किया गया। सिवांची गेट श्मशान में पुलिस की से फायर कर सम्मान दिया गया।

सैकड़ो नागरिक श्मशान यात्रा में शरीक हुए
शवयात्रा में राजस्थान उच्च न्यायालय के न्यायाधिपति संदीप मेहता, विजय विश्नोई, अरुण भंसाली, पुष्पेन्द्रसिंह भाटी, पीके लोहरा, दिनेश मेहता, विनीत माथुर, मनोज गर्ग, अभय चतुर्वेदी व सर्वोच्च न्यायालय के पूर्व न्यायाधीश अशोक माथुर, सीके ठक्कर, पूर्व न्यायाधीश एनएन माथुर, जी के व्यास व के के आचार्य, महापौर नश्याम औझा, राजस्थान हाईकोर्ट एडवोकेट एशोसिएशन के अध्यक्ष रणजीत जोशी, लायर्स एसोशियशन के अध्यक्ष सुनील व्यास, देवेन्द्र जोशी, जगतनारायण जोशी, पार्षद सुनील जोशी, पूर्व पार्षद छोटूसिंह उदावत, पूर्व अतिरिक्त महाधिवक्ता आनन्द पुरोहित, पूर्व उप निदेशक सूचना एवं जनसम्पर्क आनन्दराज व्यास, शिवकुमार व्यास, राजेश रामदेव, मंडलदत जोशी सहित सैकड़ो गणमान्य नागरिक उपस्थित थे।

राजस्थान व गुजरात उच्च न्यायालय में न्यायाधीश रहे
उनकी छोटी बहन सूरसागर विधायक सूर्यकांता व्यास ने बताया कि जस्टिस कल्ला का जन्म 1941 में हुआ था। सन 1967 में एलएलबी की व 1967 में जोधपुर विश्वविद्यालय छात्रसंघ अध्यक्ष बने थे। सन 1968 में जोधपुर से वकाला शुरू की। 1977 में जयपुर पीठ में वकालात, 1989 में बार काउंसिल के चेयरमेन, 1990 में महाधिवक्ता व 1990 में राजस्थान उच्च न्यायालय में न्यायाधीश नियुक्त हुए। सन 1994 में गुजरात उच्च न्यायालय में स्थानान्तरित हुए व 2001 में पुन: राजस्थान उच्च न्यायालय में स्थानान्तरित व 2002 में राजस्थान उच्च न्यायालय के कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश बने। उन्होंने सन 2003 में सेवानिवृत होने के बाद सर्वोच्च न्यायालय में वरिष्ठ अधिवक्ता के रूप में वकालत शुरू की थी।

मुख्यमंत्री की ओर से ऊर्जा मंत्री ने पुष्प चक्र अर्पित किया
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की ओर से ऊर्जा मंत्री बीडी कल्ला ने पुष्पचक्र अर्पित कर जस्टिस कल्ला को श्रद्धांजलि अर्पित की। ऊर्र्जा मंत्री जस्टिस कल्ला की पार्थिव देह के साथ ही जयपुर से जोधपुर आये थे। उर्जा मंत्री ने जस्टिस कल्ला के निधन पर गहरा दु:ख व्यक्त करते हुए कहा कि जस्टिस कल्ला ने न्यायिक जगत में अपनी अलग पहचान बनाई थी।

---------

 

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned